करौं के पुराना बैंक मोड़ स्थित स्थापित सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा जर्जर होने पर वहां के लोगों ने सौन्दर्यकरण स्थानीय प्रशासन से करवाने की मांग की!



मधुपुर अनुमणडल के करौं-प्रखण्ड मुख्यालय स्थित पूराना बैंक मोड़ पर वर्षों से स्थापित नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा आज जर्जर स्थिति में पहुंच गयी है। दुर्भाग्यपूर्ण बात यह है कि प्रतिमा स्थल होकर तमाम जनप्रतिनिधियों व पदाधिकारियों का आना-जाना लगा रहता है पर किसी का ध्यान इस ओर आकृष्ट नहीं होता है। कुछ समय पहले तक हर वर्ष नेता जी के जन्म दिवस के अवसर पर आसपास की बड़ी-बड़ी हस्तियां वहां पहुंचकर उनके प्रतिमा पर माल्यार्पण किया करते थे, साथ हीं अपने भाषणों में उनके बताए हुए मार्ग पर चलने की बात कहा करते थे। पर आज प्रतिमा स्थल की स्थिति देखकर ऐसा लगता है कि लोग नेताजी सुभाष चंद्र बोस को भूला देना चाहते हैं। उनके सिद्धांत लोगों को शायद अब पसंद नहीं है। कुछ वर्ष पूर्व तक नेताजी सुभाष समिति इसका देखरेख किया करती थी, पर वह समिति भी आज भंग हो चुकी है। समिति के तत्कालीन अध्यक्ष आशिष आचार्य ने बताया कि समिति के भंग होने से ही आज ये स्थिति बनी है, नेताजी के सम्मान में युवाओं को आगे आना होगा, बहुत जल्द हम सभी मिलकर नेताजी प्रतिमा स्थल की खोई हुई गरिमा को वापस लाएंगे!

No comments