बिधुत अधिकारियों की मनमानी से दलालों की चांदी



देवघर । झारखंड विद्युत बोर्ड  देवघर प्रमंडल कार्यालय में फैले भ्रष्टाचार एवं अनियमितता से उपभोक्ता परेशान होकर अब आंदोलन करने के मूड में है। विद्युत प्रमंडल देवघर कार्यालय के द्वारा उपभोक्ताओं को मनमाने विद्युत विपत्र उपलब्ध करा कर तंग तबाह किया जा रहा है। इतना ही नहीं ऊर्जा मित्र द्वारा अधिक से अधिक विद्युत विपत्र  उपभोक्ताओं को दिया जा रहा है ।उपभोक्ता परेशान होकर जब कार्यालय पहुंचते हैं वहां अवस्थित दलालों द्वारा उनको काम कराने के नाम पर नजराने वसूली की जा रही है। इतना ही नहीं कार्यालय में कनीय अभियंता से लेकर कार्यपालक अभियंता तक उपभोक्ताओं की बातों को सुनने की जरूरत नहीं समझते हैं इसके कारण दलालों की यहां चांदी कट रही है। परेशान उपभोक्ताओं की भीड़ कार्यालय परिसर में देखी जा सकती है ।विद्युत बोर्ड के द्वारा अधिक विद्युत विपत्र  बकाया होने की बात कह कर उपभोक्ताओं का कनेक्शन भी काटा जा रहा है। उपभोक्ता कार्यालय में मरता क्या नहीं करता के तर्ज पर विद्युत विपत्र जमा करने एवं आरसी डीसी जमा करने को लेकर उपस्थित हो रहे हैं जहां पदाधिकारियों द्वारा उन्हें   टहलाया जा रहा है ।उपभोक्ता इस कारण अंधकार में रहने को विवश है ।ज्ञात हो कि झारखंड विद्युत बोर्ड यदि घाटे में चल रही है इसका सीधा जिम्मेदार विद्युत बोर्ड के अधिकारी हैं जिसका जीता जागता उदाहरण देवघर प्रमंडल विद्युत कार्यालय में देखा जा सकता है।

No comments