तेजस्विनी परियोजना के नगरी क्लस्टर में एक विशेष बैठक की गई । जिसमे युवा उत्प्रेक को डोर टू डोर सहमति पत्र लेने का निर्देश दिया गया।



कुंडहित (जामताड़ा ):शुक्रवार को नगरी कलस्टर में तेजस्विनी परियोजना को लेकर कुमारी भवानी दे के अध्यक्षता में बैठक की गई। बैठक के दौरान  

 युवा उत्प्रेक को बताया गया कि विद्यालय छोड़ चुके ऐसी किशोरियों व युवती जिन्होंने अष्टम वर्ग तथा माध्यमिक शिक्षा किसी कारण बस पूरा नहीं कर पाया है, वे तेजस्विनी परियोजना में  जोड़कर, अपना उच्च शिक्षा प्राप्त कर पाएंगे। इच्छुक उम्मीदवार का सहमति पत्र क्लब स्तर पर युवा उतप्रेरक को अभिभावकों से सहमति पत्र लेने को कहा गया।सटीक जानकारी मिलने के बाद तथा ओपन बोर्ड के नियमानुसार  उन्हें अष्टम वर्ग तथा दशम वर्ग में प्रवेश लिया जाएगा, जिनके उपरांत उन्हें अष्टम वर्ग तथा दशम वर्ग पूरा करने का अवसर प्रदान किया जाएगा।

साथ ही साथ नगरी कलस्टर के कलस्टर कोऑर्डिनेटर कुमारी भवानी दे ने बताई कि यह पहल सरकार की एक बहुत ही सराहनीय पहल है, तेजस्विनी परियोजना से जुड़कर किशोरियों को माध्यमिक शिक्षा पूरी करने का  अवसर मिल रहा है, यह शिक्षा प्राप्त कर महिलाएं उच्च शिक्षा ले सकती है तथा महिला पुरुष के शिक्षा अनुपात में अंतर को कम किया जा सकता है।

कलस्टर कोऑर्डिनेटर कुमारी भवानी देने कहीं महिला बाल विकास एवं सामाजिक सुरक्षा विभाग से संचालित तेजस्विनी परियोजना  प्रखंड के सभी क्लस्टर के गाँव में पूर्व सर्वे के अनुसार विद्यालय छोड़ चुके किशोरी एवं युवतियों के डोर टू डोर जा कर अभिभावक से सहमति पत्र लिया जा रहा है ।

No comments