अवैध निर्माण व जमीन से जुड़ी समस्याओं के निष्पादन हेतु स्ट्राईकिंग कमिटि का किया गया गठनः-उपायुक्त



उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी  मंजुनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में समाहरणालय सभागार से #TalkToDC ऑनलाइन कार्यक्रम का आयोजन किया। इस दौरान जिले के सभी दसों प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी व 100 से अधिक सीएससी केंद्रों के माध्यम से जिले के विभिन्न पंचायत के लोगों ने उपायुक्त से ऑनलाइन मुलाकात कर अपनी समस्याओं से अवगत कराया। साथ हीं कार्यक्रम के दौरान ऑन द स्पाॅट कई लोगों की समस्याओं का समाधान उपायुक्त द्वारा किया गया।

  इसके अलावे #TalkToDC कार्यक्रम के दौरान उपायुक्त द्वारा प्रखण्डवार तरीके से उपस्थित लगभग सभी लोगों से एक-एक कर उनकी समस्याएँ सुनी गयी एवं संबंधित प्रखण्ड विकास पदाधिकारी व अंचलाधिकारियों को निदेशित किया गया कि आम जनता से सभी शिकायतों की जल्द से जल्द जाँच कराते हुए निश्चित समय अवधि में शिकायतों का समाधान किया जाएगा।

इसके अलावे #TalkToDC कार्यक्रम के माध्यम सभी शिकायतकर्ता की समस्याएँ को सुनने के पश्चात उपायुक्त  मंजुनाथ भजंत्री ने संबंधित विभाग के अधिकारियों को कड़े शब्दों में निदेशित किया गया कि सभी आवेदनों का भौतिक सत्यापन करते हुए, समस्याओं का समाधान जल्द से जल्द करें। इसके अलावे उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि इन शिकायतों पर त्वरित कार्रवाई करते हुए एक सप्ताह के अंदर अपना प्रतिपुष्टि उपायुक्त कार्यालय को समर्पित करे, ताकि शिकायतों के निष्पादन की प्रक्रिया पुरी तरह से पारदर्शी रहे। साथ हीं सभी सीएससी केन्द्र संचालकों को उपायुक्त ने निदेशित किया कि आने वाले लोगों से जुड़ी समस्याओं के आवेदन को संग्रहित करते हुए उपायुक्त कार्यालय को भेजना सुनिश्चित करें।

■ जमीन से जुड़ी मामलों का निष्पादन करने हेतु कन्ट्रोल रूम का निर्माणः-उपायुक्त....

टाॅक टू डीसी कार्यक्रम के दौरान जमीन से जुड़े मामलों पर संज्ञान लेते हुए उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री द्वारा जानकारी दी गयी कि अवैध तरीके से जमीनों पर कब्जा करने वाले या फर्जी दस्तावेज तैयार कर जमीनों का अतिक्रमण करने वाले लोगों  के विरूद्ध कार्रवाई हेतु स्ट्राईकिंग कमिटि का गठन किया गया है। इस हेतु अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, एजीपी व एपीपी की सदस्यता वाली कमिटि बनायी गयी है, ताकि फर्जी तरीके से काम करने वाले लोगों के विरूद्ध जांच करते हुए आवश्यक कार्रवाई की जायेगी। साथ हीं विशेष कंट्रोल रूम बनाया है। जहां 24 घन्टे मजिस्ट्रेट व पुलिस की ड्यूटी रहेगी। डीसी ने बताया कि कंट्रोल रूम को चालू कर दिया गया है। कंट्रोल रूम को जैसे ही किसी भी जमीन पर कब्जे और सरकारी भूमि के अतिक्रमण की शिकायत मिलेगी मजिस्ट्रेट पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच जायेंगे. मामले की पड़ताल करेंगे, राजस्व अधिकारी से जानकारी प्राप्त कर इसकी रिपोर्ट उपायुक्त को सौपेंगे, ताकि जमीन माफिया के खिलाफ कार्रवाई की जाये। इसके अलावे उपायुक्त द्वारा जानकारी दी गयी कि अपर समाहर्ता की अध्यक्षता में कमेटी बनायी गयी है, जो एक वर्ष पूर्व तक अंचल कार्यालय, सब रजिस्ट्रार ऑफिस व डीसीएलआर ऑफिस में राजस्व के संबंध में जो भी कार्य हुए हैं, उनकी समीक्षा कर जांच रिपोर्ट सौपेगी। इसमें विशेष तौर पर एलपीसी की जांच होगी। 

■ जिले के सभी जरूरतमंदों को मिलेगा आवास व शौचालय का लाभः-उपायुक्त....

#TalkToDC कार्यक्रम के दौरान उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री ने आवास योजना व शौचालय से जुड़े शिकायतों को संज्ञान में लेते हुए संबंधित अधिकारियों को सख्त निदेशित किया कि माननीय मुख्यमंत्री जी की प्राथमिकताओं में शुमार है की हर जरूरतमंद को आवास योजना का लाभ मिले। ऐसे में ग्रामीण क्षेत्र हो या शहरी क्षेत्र तय समय के अनुरूप लाभुकों को किस्त मिलता रहे। साथ हीं लंबित आवास योजनाओं को गति देते हुए उन्हें पूर्ण करें। इसके अलावा कार्यक्रम के दौरान उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियेां को निदेशित किया कि जिले में एक भी सुयोग्य लाभुक आवास व शौचालय योजना के लाभ से वंचित न रहे, इसका विशेष रूप से ध्यान रखें। 

■ प्रखण्डस्तरीय कोविड टास्क फोर्स को उपायुक्त ने दिये आवश्यक दिशा-निर्देश....

इसके अलावा टाॅक टू डीसी कार्यक्रम के दौरान उपायुक्त ने प्रखण्ड स्तर पर कोल्ड चैन मैनेजमेंट, डाटा बेस संधारण, वैक्सीनेटर के डाटा बेस संधारण तथा अन्य महत्वपूर्ण आंकड़ों के संधारण की समीक्षा करते सिविल सर्जन व सभी प्रखण्ड चिकित्सा पदाधिकारी को निदेशित किया कि प्रखण्ड स्तर पर किये जाने वाले कार्यों का निरीक्षण करते हुए प्रगति प्रतिवेदन समर्पित करें, ताकि समय रहते प्रखण्ड स्तर की कमियों को दूर किया जा सके। 

■ प्राथमिकता के आधार पर पेंशन व राशन से जुड़े मामलों का करें निष्पादनः उपायुक्त....

टाॅक टू डीसी कार्यक्रम के दौरान उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी  मंजूनाथ भजंत्री ने प्रखण्डों तथा अंचलों से आये पेंशन से जुड़े मामलों को संज्ञान में लेते हुए विभिन्न प्रखण्डों के अंचलाधिकारी को निदेशित किया कि पंचायत सचिव को एक्टिव करते हुए पंेशन से जुड़े अर्हता प्राप्त लोगों की सूची तैयार कर लें, ताकि पोर्टल खुलते ही प्राथमिकता के आधार पर लोगों को जोड़ा जा सके। इसके अलावे कार्यक्रम के दौरान उपायुक्त ने सभी प्रखण्डों के प्रखण्ड विकास पदाधिकारियों व अंचलाधिकारियों को निदेशित किया कि टाॅक टू डीसी कार्यक्रम का प्रखण्ड व पंचायत स्तर पर व्यापक प्रचार-प्रसार करें, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग कार्यक्रम से जुड़कर समस्याओं व सुझाावों को जिला प्रशासन के समक्ष रख सकें। 

■ अपने-अपने प्रखण्डों में टाॅक टू डीसी कार्यक्रम के प्रति लोगों को करें जागरूकः-उपायुक्त....

कार्यक्रम के दौरान उपायुक्त ने लोगों को जानकारी देते हुए कहा कि हरेक सोमवार को पंचायत स्तर में आपकी समस्याओं की समाधान हेतु #TalkToDC कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। आप सभी से आग्रह होगा कि वैसे लोग जो कोरोना काल में जो लोग अपनी शिकायत जिला प्रशासन तक नहीं पहुंचा पा रहे हैं, वैसे लोगों को जागरूक करें, ताकि सभी लोगों की समस्याओं को दूर किया जा सके। इसके अलावे उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों एवं प्रखण्ड विकास पदाधिकारी सीएससी मैनेजर को निदेशित किया कि कार्यक्रम को लेकर लोगों को जागरूक करें, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों की समस्याओं का समाधान किया जा सके। 

कार्यक्रम के पश्चात उपायुक्त ने सभी लोगों का कार्यक्रम से जुड़ने हेतु आभार प्रकट किया। साथ हीं प्रज्ञा केन्द्र संचालकों को उनके जिम्मेवारियों से अवगत कराते हुए आने वाले फरयादियों के आवेदन को संग्रहित कर उपायुक्त कार्यालय भेजने का निदेश दिया। 

इस दौरान उपरोक्त के अलावे जिला सूचना विज्ञान पदाधिकारी  ए.बी रॉय, जिला आपदा प्रबंधन पदाधिकारी राजीव रंजन, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी अनीता कुजूर, जिला जनशिकायत कोषांग के प्रतिनियुक्त अधिकारी डाॅ सुनील तिवारी, डाॅ सत्येन्द्र,  सहायक जन सम्पर्क पदाधिकारी रोहित कुमार विद्यार्थी, सीएससी मैनेजर सत्यम कुमार एवं नगर निगम, आपूर्ति, मनरेगा, कृषि, पीएम आवास व संबंधित विभाग के अधिकारी कर्मी आदि उपस्थित थे।

No comments