दलित अधिकार को लेकर दो दिवसीय कार्यशाला संपन्न!



मधुपुर: 10 जनवरी अनुमंडल अंतर्गत मार्गो मुंडा प्रखंड के चेनारी गांव स्थित साहू टोला में रविवार को संपूर्ण ग्राम विकास केंद्र डालटेनगंज पलामू के द्वारा  दलित अधिकारों को लेकर आयोजित दो दिवसीय कार्यशाला का रविवार को सफलता पूर्ण समापन हो गया।9 से 10 जनवरी तक चलने वाले इस कार्यशाला में बतौर प्रशिक्षक  ग्राम विकास फाउंडेशन के सुचिंद्र भगत ने प्रतिभागियों को दलित अधिकारों के बारे में सविस्तार जानकारी प्रदान की। बतौर प्रशिक्षक दलित एक्टिविस्ट अरुण कुमार निर्झर ने एट्रोसिटी एक्ट की सविस्तार जानकारी प्रदान की। प्रशिक्षक रामू आनंद दलित अधिकार सुरक्षा मंच के जिला संयोजक ने दलित अधिकार एवं सर्वोच्च न्यायालय के द्वारा 20 मार्च 2018 के फैसले के बारे एवं इस कानून के तहत जो सहायता राशि देने का प्रावधान है उसकी सविस्तार जानकारी प्रदान की।इन विषयों पर जानकारी हासिल कर चेतनारी ग्राम की महिलाओं ने रविवार को अपने अधिकार को लेने के लिए संकल्प लेते हुए  सर्वसम्मति से अपने समुदाय का महिला संगठन बनाने एवं इसके कोष को मजबूत करने का निर्णय लिया। ताकि अपने परिवार व समुदाय का समुचित विकास कर सकें।इससे पूर्व शनिवार को संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव अंबेडकर एवं देश की प्रथम शिक्षिका सावित्रीबाई फुले की तस्वीर पर  डॉक्टर भीमराव अंबेडकर झारखंड दलित समाज विकास समिति की सचिव सावित्री देवी, चेतनारी ग्राम की महिला सियादेवी व जामुन तुरी तथा भेड़वा निवासी वासु तुरी  द्वारा माल्या माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया था। तदोपरांत संस्था सचिव सावित्री देवी द्वारा कार्यशाला के उद्देश्यों को रेखांकित करते हुए विषय प्रवेश कराया गया था।इस कार्यशाला में कुल 41 महिला पुरुषों ने अपनी भागीदारी निभाई जिसे सफल बनाने में उत्तम कुमार दास सियादेवी रामदेव कॉल बंसराज पुरी मनोज दूरी चरखी देवी पुर्नीदेवी सोमा देवी आदि का सहयोग सराहनीय था!

No comments