झारखंड पर सभी का समान हक, राज्य के गठन और विकास में हर वर्ग के लोगों का योगदान



देवघर।संजय भारद्वाज झारखण्ड प्रदेश सचिव सह  मधुपुर विधानसभा राजद के पूर्व प्रत्याशी ने बयान जारी कर कहा कि  राज्य के गठन में जाति, धर्म और वर्ग का भेद भुलाकर जनता ने त्याग किया है और आज विकास में भी अपना योगदान दे रहे हैं। शुक्रवार को महुआ कॉन्फ्रेंस में दिए गए वित्त मंत्री श्री रामेश्वर उरांव के बयान के संबंध में कहना है कि मैंने उनका मौलिक बयान नहीं देखा है और स्वयं वित्त मंत्री ने कहा है कि उनके बयान को संदर्भ से अलग करके लिखा गया है इसलिए इस पर कोई टिप्पणी नहीं कर सकता लेकिन सत्तारूढ़ गठबंधन में शामिल किसी भी दल की सोच या विचारधारा ऐसी नहीं है।झारखंड राज्य के हर नागरिक को इस पर समान अधिकार और कर्तव्य प्राप्त है। जहां तक आदिवासियों को वन कानून से लाभ दिए जाने का प्रश्न है तो यह वास्तविकता है कि इस दिशा में काफी काम किया जाना है। खुद मेरे द्वारा भी लगातार जल, जंगल और जमीन के मुद्दे पर आवाज उठाई गई है और अपने स्तर से ऐसी नीतियों और प्रयासों को कारगर बनाने की दिशा में भरपूर कोशिश भी की जा रही है।

No comments