खाजूरी एवं विक्रमपुर गांव में किया गया पुस्तकालय उद्घाटन।



पुस्तकालय में मुख्य रूप से उप विकास आयुक्त नमन प्रियश लकड़ा डीआरडी  डायरेक्टर रामवृक्ष महतो, एसी सुरेंद्र कुमार मौजूद थे। 

फैज अक अहमद मुमताज  ने  पुस्तकालय के  अध्यक्ष सचिव  एवं कोषाध्यक्ष सदस्य ग्रामीण से वार्ता करते हुए कहा कि हमारे इस पुस्तकालय का लगन कहिए या ज्योति कहिए इसके बाद लेकिन थोड़ा सा आपको यहां भी किताब का और पुस्तकालय का ध्यान देना है ।कहीं घूमने गए तो अच्छी किताब देखी तो दो-चार किताब खरीद के पुस्तकालय में दान कर दीजिए । पुस्तकालय  को कैसे और किस तरह चलाना है यह ग्रामीणों के ऊपर निर्भर है। यह लाइब्रेरी पूरे पंचायत के गांव के लिए बराबर है। किसी चीज का विद्यार्थी तैयार करता है उसके लिए सबसे उपयोगी चीज होती है यह लाइब्रेरी ।जहां वह शांति से बैठ कर पढ़ सकता है ।इस तरह से इस जगह को विकास करे कि गांव के बच्चे तैयारी  के लिए दिल्ली ,मुंबई ,पटना  ना जाकर गांव में ही तैयारी कर सके ।पुस्तकालय के अध्यक्ष सचिव  एवं सदस्यों को पुस्तकालय  को  24 घंटा  चलाने एवं पुस्तकालय में पुस्तक रखने को  कहाँ गया।  इस पुस्तकालय को बढ़िया से चलाना है।यह आप लोगों का जिम्मेवार है और समाज को सुधारना है। आप को अपने गांव का विकास करना है तो आपको खुद शिक्षक बनना पड़ेगा। यह कोई सरकारी स्कीम के तहत नहीं हो रहा है । पुस्तकालय उद्घाटन करने के बाद विभिन्न  विभाग से लगे स्टाल का भी निरीक्षण किया। 


हम लोग चुने आपके पंचायत का पुस्तकालय बनाने के लिए इसीलिए यहां पुस्तकालय बना दिए ,जिसको जिस तरह से, किताब पैसा आदि  मदद कर सकता है ।पुस्तकालय में एक बढ़िया माहौल तैयार कीजिए अगर कोई व्यक्ति नवी माध्यमिक करके नहीं पढ़ पाया या पढ़ाई छूट गई है ।आप ऐसे विधार्थी को प्रस्तुत कीजिए पढ़ने के लिए। पढ़ने का कोई उम्र नहीं होता है ।वही समाज को आगे बढ़ा सकता है जो अपने से आगे बढ़ सके आप के पास  पुस्तकालय का रिसोर्स है जिसे आप लोग उपयोग करें । जैसे समाज में मंदिर-मस्जिद को बढ़िया से चलाते हैं उसी प्रकार पुस्तकालय का चलाना है ,और पुस्तकालय भी एक मंदिर की तरह होता है




उप विकास आयुक्त नमन प्रियश लकड़ा ने कहा कि पंचायत का कमेटी है यह सब से ज्यादा इंपोर्टेंट है। खाजुरी में बहुत अच्छा माहौल देखा गया। आप लोग  जितना जागरूक रहिएगा उतना ही हम लोग आपके लगाव में रहेंगे ।ब्लॉक कमेटी बनाया गया है किसी प्रकार का दिक्कत हो तो बोल सकते हैं ।हम लोग जल्द से जल्द मदद करने का कोशिश करेंगे किताब के अलावे पुस्तकालय में जितने भी संसाधन है वह आप लोग के जिम्मेवार है। 


डी आर डी डायरेक्टर रामवृक्ष महतो ने कहा कि एक ऐसा माहौल तैयार करें जो सीनियर है जो बी ए, एम ए, कर के बैठे हैं, पुस्तकालय में आकर वह जूनियर छात्र छात्राओं को गाइडलाइन कर सकते हैं। ऐसे पुस्तकालय बनाइए ताकि सिर्फ खाजूरी के लिए नहीं अलग अगल बगल गांव के भी लोग पढ़ने के लिए आए ।एक बेहतर लाइब्रेरी तैयार करने के लिए कहा गया। 


एसी सुरेंद्र कुमार ने ग्रामीण से वार्ता करते हुए कहा कि एक परिवार को या अपने आप को पैर में खड़ा होना है तो शिक्षा का होना बहुत जरूरी है। 

मौके पर जिला कृषि पदाधिकारी सावन गुड़िया , बीडीओ गिरिवर मिंज,मुखिया, जिला परिषद एवं प्रखंड स्तरीय पदाधिकारी के अलावे ग्रामीण मौजूद थे।

No comments