रेलयात्री और बुकिंग क्लर्क के बीच टिकट को लेकर वाक युद्ध



देवघर।सर्वविदित है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित रहने के लिए पूरे भारत में लॉकडाउन समाप्ति के बाद 30% पैसेंजर ट्रेनों के परिचालन का प्रावधान रखा गया है । वही आसनसोल झाझा रेलखंड पर 24 घंटों में मात्र 2 ट्रेनों का परिचालन अप और डाउन में होता है। जिस वजह से रेल यात्रियों को यात्रा करने में काफी फजीहत का सामना करना पड़ रहा है। ट्रेनों के परिचालन की जानकारी नहीं होने से रेल यात्रियों को घंटों प्रतीक्षारत रहना पड़ रहा है ।टिकट काउंटर पर जाने के बाद टिकट नहीं मिलने पर बुकिंग काउंटर और रेल यात्रियों के बीच वाक युद्ध चलता है। बरहाल रेल  सूत्र से मिली जानकारी के अनुसार जसीडीह रेलवे स्टेशन से दो हजार रेल यात्री यात्रा करते हैं। जिससे रेलवे को राजस्व के रूप में 25 से ₹30 हजार प्रतिदिन की आय होती है। यहां तक की रेल यात्रियों ने रेल से अनुरोध किया है कि यथाशीघ्र सभी पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन कराया जाए जबकि

परिचालन होने वाली पैसेंजर ट्रेन

 आसनसोल झाझा अप एंड डाउन,

 अंडाल बांकाअप डाऊन,

 जसीडीह बांका अप एंड डाउन,

 जसीडीह दुमका अप एंड डाउन जसीडीह रामपुरहाट,

उसके बाद बैजनाथ धाम झाझाशामिल हैं।

No comments