विधायक रणधीर सिंह ने कार्यकर्त्ता सम्मेलन सह वनभोज के बहाने दिखाई ताकत



पूर्व विधायक व पूर्व स्पीकर समेत मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और कृषि मंत्री बादल पत्रलेख पर भी जमकर फोड़ा ठिकरा





सारठ : विधायक रणधीर सिंह ने शुक्रवार को सारठ प्रखंड के सिकटिया अजय बराज में कार्यकर्त्ता मिलन समारोह सह वनभोज कार्यक्रम का आयोजन किया। इस दौरान विधायक रणधीर सिंह ने मौजूद हजारों कार्यकर्त्ताओं के समक्ष अपने एक वर्ष के कार्यकाल में क्षेत्र में किये गए विकास कार्यों का लेखा-जोखा पेश किया। वहीं क्षेत्र के सड़क, बिजली, पेयजल, शिक्षा, स्वास्थ्य आदि बुनियादी समस्याओं के समाधान को लेकर अपनी वचनबद्धता को दोहराते हुए प्राथमिकताओं को भी बताया। कार्यकर्त्ताओं को संबोधित करने के दौरान विधायक श्री सिंह ने पूर्व में 30 वर्ष तक विधायक रहे चुन्ना सिंह व 10 वर्ष तक क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किये पूर्व स्पीकर शशांक शेखर भोक्ता का बिना नाम लिए, उनके कार्यकाल में क्षेत्र में कोई विकास कार्य नहीं होने की बात कही और पूर्व के दोनों नेताओं पर तीखा हमला भी बोला, रणधीर सिंह ने कहा कि पूर्व के विधायक यदि अपने कार्यकाल के दौरान क्षेत्र के विकास को लेकर तनिक भी गंभीर होते, तो आज सारठ विधानसभा क्षेत्र की तस्वीर बदली हुई रहती। विधायक ने पूर्व स्पीकर के पुत्र प्रशांत शेखर द्वारा सोशल मीडिया में क्षेत्र के विकास को लेकर की गई टिप्पणी पर भी जोरदार हमला बोला। श्री सिंह ने कहा कि उन्होंने अपने छह वर्ष के कार्यकाल में हमेशा क्षेत्र के विकास को लेकर अथक प्रयास किया, जिसका परिणाम आज क्षेत्र की जनता देख रही है। कहा कि उन्होंने विधानसभा क्षेत्र के हर गांव-टोला तक सड़क पहुंचाया, लोगों के घरों तक शुद्ध जल नलों से जाये, इसके लिए कई ग्रामीण पेयजलापूर्ती योजना को गांवों में लाया, शिक्षा के क्षेत्र में दर्जनों मिडिल स्कूलों को हाई स्कूलों में प्रोन्नत करवाया, दर्जनों गांवों में बिजली पहुंचाई, क्षेत्र में पांच पावर सब स्टेशन और तीन ग्रिड बनवाये। स्वास्थ्य व्यवस्था को दुरुस्त कराने की दिशा में कई काम किया, कई एम्बुलेंस अस्पतालों में उपलब्ध कराए, क्षेत्र के सैंकड़ो गरीब-गुरबा को अपने खर्च पर समुचित इलाज करवाया, सैंकड़ो गरीब के बेटियों की शादी और गरीब परिवार के लोगों के श्राद्ध में हर संभव सहयोग किया। वहीं उन्होंने वर्तमान कृषि मंत्री बादल पत्रलेख को भी निशाने में लिया और उन्हें गरीब और किसान विरोधी कहा। श्री सिंह ने कहा कि वो जब रघुवर दास के सरकार में कृषि मंत्री थे, उन्होंने क्षेत्र के हजारों किसानों को पम्पिंग सेट दिए, सैंकड़ो बीपीएल महिलाओं को 90 फीसदी अनुदान पर गाय दी। सैंकड़ो तालाब बनवाये, सारठ में पांच मेट्रिक टन का कोल्ड स्टोरेज और 50 हजार लीटर क्षमता का मिल्क प्रोसेसिंग प्लांट बनवाया। कोरोना काल मे पूरे विधानसभा क्षेत्र के हर जरूरतमंद परिवार को लगातार राशन पहुंचाया। 70 हजार सेनिटाइजर और 250 लाख मास्क वितरण किया, अभी ठंढ को देखते हुए 14 हजार कंबल जरुरतमंदो को दिया जा रहा है। समारोह को भाजपा नेता संजय यादव,  अधीर भैया, रविन्द्रनाथ तिवारी, मंडल अध्यक्ष देबू पोद्दार, परमानन्द ठाकुर, अशोक हजारी समेत हजारों पार्टी नेता और कार्यकर्ता मौजूद थे।

रणधीर सिंह ने कृषि मंत्री बादल पत्रलेख से सवाल किया कि क्यों हेमंत सरकार आते ही 28 लाख 63 हजार किसानों  में 6 लाख किसान का नाम कटवा दिए। दो लाख तक कृषि ऋण माफ करने की घोषणा करके 50 हजार ही किये। क्यों केंद्र के मोदी सरकार का पैसा बादल खर्च नहीं कर पाए, केंद्र द्वारा कृषि विभाग का भेजे गए पैसे भी खर्च नहीं कर पाये, गरीबों को पेंशन क्यों नहीं दे पा रहे हैं ? रणधीर सिंह ने राज्य के हेमंत सोरेन सरकार को भी जन विरोधी सरकार करार दिया और राज्य की जनता के साथ विश्वासघात करने की बात कही। इस दौरान उपस्थित कार्यकर्त्ताओं ने कई बार रणधीर सिंह के समर्थन में तालियां बजाई और जिंदाबाद के नारे भी लगाए।

No comments