मधुपुर थाना में ठगी की शिकायत करता युवक, मामला 10हजार रूपये का ठगी!



मधुपुर इलाकों में कई फर्जी गिरोह ऑनलाइन पढ़ाई और कमाई के नाम पर शहर में गिरोह सक्रिय हो गया है । अनुमंडल के बुढ़ई थाना क्षेत्र के कलहाजोर गांव निवासी दिलीप तुरी ने बुधवार को थाना में लिखित शिकायत कर घटना की जानकारी पुलिस को दिया । पीड़ित युवक ने पुलिस को बताया कि मजदुरी करके परिवार का भरण पोषण करता है ।  लॉकडाउन के कारण काम ठप हो जाने से वह बेरोजगार हो गया था । इसी क्रम में वह चार माह पूर्व मधुपुर के नया बाजार मोहल्ला स्थित एक किराए के मकान में चल रही डियो सॉफ्ट कंपनी के संपर्क आया । कंपनी के लोगों ने उसे बताया कि यहां ऑनलाइन पढ़ाई के साथ-साथ अच्छी कमाई के लिए रोजगार दिए जाते है । इसके लिए दस हजार रूपया जमा करना होगा । सबसे पहले 600 रुपया लेकर कराया निबंधन कराया । फिर 9500 अलग-अलग किस्तों में लिया।  आईडी पासवर्ड मिलेने पर प्रतिसप्ताह दो से तीन हजार आमदनी होने की बात कही गयी । पूरा पैसा जमा करने के बाद चार दिन का ट्रेनिंग और एक डायरी दिया । चार माह बीतने के बाद कोइ काम व आमदनी कंपनी की और से नहीं मिला तो ऐंजेटो ने बताया कि आपको चैनल बनाकर और लोगों को जोड़ना होगा । इसके बाद मुझे एहसास हुआ कि ठगी का शिकार हो गया हूं!वहीं कंपनी की प्रभारी ने भी मधुपुर थाना की  पुलिस को कहा कि वह नयाबाजार मोहल्ला के एक किराए एक मकान में मैं अकेली रहती हूं । बुधवार को युवक अपने साथी के साथ मेरे घर आकर मेरे साथ अभद्र व्यवहार किया । इस संबंध में मधुपुर थाना में दोनों के द्वारा अलग आवेदन देकर शिकायत की गई हैं ।क्या कहती हैं कंपनी के प्रभारी कंपनी के प्रभारी प्रियंका कुमारी ने बताया कि डियो सॉफ्ट एक नेटवर्किंग कंपनी है । ऑनलाइन शिक्षा दे रही है । आरोप लगाने वाले युवक को पहले कंपनी की ओर से प्रशिक्षण दिया गया था, और इसके बारे में समझाया गया था । इसके बाद उनसे पैसा लिया गया । किसी प्रकार का युवक से ठगी नहीं की गई है । उलटे युवक अपने साथी के साथ मिलकर मेरे घर आकर मेरे साथ साथ अभद्र व्यवहार क्या ।क्या कहते हैं इंस्पेक्टर इंचार्ज मधुपुर  इंस्पेक्टर इंचार्ज मनोज कुमार मल्लिक ने बताया कि युवक व  कंपनी के प्रभारी के तरफ से थाने में अलग-अलग आवेदन दिया गया है । नेटवर्क कंपनी का कार्यालय व दस्तावेज की जांच की जा रही है । इसकी रिपोर्ट अनुमंडल पदाधिकारी को भी दिया जाएगा । जांच के बाद ही मामले में आगे की कार्रवाई होगी । फिलहाल पुलिस कंपनी के अधिकारी से संपर्क कर मामले  की जांच की जा रही है!

No comments