सारठ पहुंचे डीआईजी ने सभी थानों के लंबित व आपराधिक मामलों की समीक्षा की


कहा : साईबर अपराध पर अंकुश को लेकर चलाया जा रहा विशेष अभियान

बैठक करते डीआईजी व अन्य पुलिस पदाधिकारी

सारठ : अपराध पर अंकुश लगाने तथा सारठ पुलिस अनुमंडल क्षेत्र के सारठ, पालोजोरी, चितरा, पथरड्डा व खागा थाने में दर्ज लंबित व आपराधिक मामलों की समीक्षा हेतु गुरुवार को पुलिस उप महानिरीक्षक सुदर्शन प्रसाद मंडल पुलिस अनुमंडल कार्यालय सारठ पंहुचे और एसडीपीओ आमोद नारायण सिंह व  पुलिस निरीक्षक राजेन्द्र टुडू समेत सभी थाना प्रभारी के संग समीक्षा बैठक की। सभी थानों से जुड़े सभी लंबित कांडों की क्रमवार समीक्षा करते हुए डीआईजी द्वारा एसडीपीओ व पुलिस निरीक्षक को भी सभी लंबित कांडों का निष्पादन में तेजी लाने का निर्देश दिया। वहीं बढ़ते साईबर अपराध पर चिंता जताते हुए डीआइजी ने बताया कि सारठ अनुमंडल क्षेत्र के दर्जनों गाँव के युवा विलासिता की चाह में साईबर अपराधी बन गए हैं। ऐसे सभी गाँवों की सूची बनाकर साईबर अपराधियों को चिन्हित कर एक अभियान के तहत सभी की गिरफ्तारी की जा रही है। कहा कि ऐसे अपराधी पुलिस व सिविलियन दोनों के लिए परेशानी का विषय है और ऐसे अपराधियों की जगह जेल है। बताया गया कि जामताड़ा व देवघर जिले में अधिकांश मामला साईबर अपराध से जुड़ा हुआ हैं और इन मामलों का निष्पादन हेतु
सारठ, करमाटांड़, नारायणपुर थाना में प्रशिक्षु आईपीएस को थाना प्रभारी बनाया गया है, जिसका परिणाम भी देखने को मिल रहा हैं। इसके अलावा सभी थानों में दर्ज हत्या, लूट समेत विभिन्न आपराधिक मामलों में भी पीड़ित को जल्द न्याय मिले इसके लिए ऐसे सभी मामलों पर गंभीरता पूर्वक कार्य करने का निर्देश दिया मौके पर प्रशिक्षु आईपीएस सह सारठ थाना प्रभारी कुलदीप चौधरी, पालोजोरी थाना प्रभारी रविशंकर प्रसाद, चितरा थाना प्रभारी अनिल शर्मा, खागा थाना प्रभारी प्रदीप लकड़ा, पथरड्डा थाना प्रभारी सुमित लकड़ा के समेत अन्य मौजूद थे।

No comments