वर्षो से चापाकल है खराब, पेयजल किल्लत में ग्रामीण जुझने को विवश



गोड्डा जिले के पोड़ैयाहाट प्रखंड के पसई  पंचायत के अराजिकित के छोटा  सा गावँ  हरणमापड़ी सटे घरडी जहाँ दो चापाकल है ,और दोनों खराब पड़े है । पीने का पानी का घोर संकट है। जो पसई  पंचायत के अंतर्गत आता है। ग्रामीणों का कहना है, सभी चापाकल  वर्ष से ख़राब है। लेकिन कोई सुध लेने वाला नही है। घरडी में करीब 25 घर है। जिसमे में दो चापाकल है, जो विगत  वर्षो से ख़राब है।   वहीं ग्रामीण पानी के लिए एक किलोमीटर की  दूरी तय कर के पीने का पानी लाते है। जिससे वर्तमान में ग्रामीण अपना प्यास बुझा रहे है। ग्रामीणों का कहना है करीब एक किलोमीटर दूर से पीने का पानी लाते है। जिससे हम ग्रामीणों को बहुत दिक्कत का सामना करना पड़ता है। अधिकतर समय पानी लाने में चला जाता है। मज़बूरी में कभी कभी कुआं का प्रदूषित पानी भी व्यवहार में लाते है। जिसके सेवन से बीमार व संक्रमण का डर बना रहता है। मुखिया से चापाकल मरम्मति का शिकायत करने पर भी चापाकल का मरम्मति नहीं हो पा रहा है। पानी की समस्या को लेकर ग्रामीण ने मुखिया पे खाफी नराजगी जताते हुए कहा कि पानी की समस्या का निदान कराए नही तो हम सभी आगे तक जाएंगे। इस मौके में निरंजन मरीक,संजय मरीक,विकेश कुमार,पंकज कुमार,नितेश कुमार,सोनू कुमार,अरविंद मिर्धा,अनिल मरीक,सुरेश मरीक वसचीन कुमार आदि।

No comments