साल के अंतिम दिन मशहूर मसानजोड़ डेम में उमड़ी सैलानियों की भीड़



दुमका से तीस किलोमीटर दूर प्रकृति की गोद में बसे मसानजोड़ डेम में वर्ष के अंतिम दिन गुरुवार को नववर्ष का स्वागत करने एवं पिकनिक मनाने  सुबह से ही पर्यटको का तांता लगना शुरू हो गया है|मसानजोड़ की ओर आनेवाली सड़क पर पर्यटक वाहनो का तांता लग गया हैं।कड़ाके की ठंड की परवाह किए बगैर  बाहन कोहरे को चीर कर मसानजोड़ के लिये सरपट दौड़ रहे हैं । कोरोना संक्रमण काल मे भी साल के अंतिम दिन यहां पर्यटकों की अपार भीड़ उमड़ने का अनुमान हैं ।बिगत एक सप्ताह से यहां पर्यटकों का आना शुरू हो गया हैं ।प्रकृति की गोद मे बसा पाहाड़ों से घिरा मसानजोड़ डैम सजधज कर तैयार हैं कहना अतिश्योक्ति नहीं होगा ।यहा के फूलबाग में बिभिन्न प्रजाति के फूल लोगो का आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं ।वही डैम के जलाशय में पर्यटक स्पीड बोट से नौका बिहार का आनंद ले रहे हैं ।इस बार यहां पर्यटकों पर्यटक चार चक्का बाहनो से ज्यादा इस रहे हैं ।डैम के जलाशय के उपरी भाग के धाजापाड़ा के टूरिस्ट काम्प्लेक्स के जलाशय के तट डैम के निचे शिशु बागान एवं मयूराक्षी नदी के दोनों तट में पिकनिक मनाने लोगो की भीड़ उमड़ने लगी हैं । जिला मुख्यालय दुमका से तीस किलो मीटर दूरी पर स्थित इस पर्यटन स्थल  मसानजोड़ तक पंहुचने के लिये दुमका के प्राइवेट बस पड़ाव से आधा घंटा के अंतराल में बस उपलब्ध हैं। वही बीरभूम जिला के सदर शहर सिउड़ी से दुमका के लिये बस सेबा के माध्यम से मसानजोड़ पंहुचना आसान हैं ।दुमका एवं सिउड़ी से यहा आने के लिये आसानी से छोटे बाहन भाड़ा पर मिल जाते हैं । पर्यटकों के ठहरने के लिये टूरिस्ट काम्प्लेक्स के साथ यहां प्राइवेट होटल भी हैं ।

No comments