सरकार बदलने के बाद भी यह सभी बेबस आज भी वृद्धा पेंशन योजना की लाभ से भटक रहे हैं



मधुपुर 24 दिसंबर सूबे के सभी लाचार , बेवश , बिकलांग , विधवाओं और बेसहारों को पेन्शन, सुख-सुविधा आदि की सरकारी घोषणा यहाँ खोखला सावित हो रहा है I उदाहरण के लिये  अनुमण्डल के करों प्रखण्ड के बाज़ू में स्थित करमांटाँड़ प्रखण्ड के करमांटाँड़ विद्यासागर,जामताड़ा निवासी शरीर व आँख से लाचार कृष्ण कुमार सर्राफ को साक्षात् देखा जा सकता है I उल्लेखनीय यह है कृष्ण कुमार सर्राफ एक अदद एक बिकलांग पेन्शन  पाने के लिये सालों-साल प्रखण्ड कार्यालय से लेकर  उपायुक्त कार्यालय तक चक्कर काटा ओर तो ओर पूर्व मंत्री व विधायक रणधीर  सिंह से भी गुहार लगाई पर आज तक कोई सुनवाई नहीं I गौरतलव यह कि कृष्ण कुमार अब बैशाकी के सहारे भी चलने -फिरने में असमर्थ है I एक मात्र इनका सहारा पत्नि भी पिछले महिनों चल बसी I अकेला दिन बेवशी के आलम के साथ ही  अर्थाभाव से गुजार रहे है कृष्ण कुमार कहते है कि सरकार के अधिकारीगण और नेता मुझे पेन्शन दिलाने की व्यवस्था करें ताकि अर्थाभाव दूर हो!

No comments