नव वर्ष आगमन को लेकर बाबा मंदिर प्रभारी ने सुरक्षा व्यवस्था को लेकर अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश



अनुमंडल पदाधिकारी सह बाबा मंदिर प्रभारी  दिनेश कुमार यादव की अध्यक्षता में आगामी नव वर्ष, बसंत पंचमी को लेकर बाबा मंदीर में सुरक्षा-व्यवस्था व विधि व्यवस्था को लेकर बैठक का आयोजन अनुमंडल कार्यालय में किया गया। इस दौरान उन्होंने नववर्ष, बसंत पंचमी, महाशिवरात्रि पर्व को लेकर बाबा बैद्यनाथ मंदिर में श्रद्धालुओं की संभावित संख्या की संभावना को देखते हुए कोविड नियमों के अनुपालन के साथ मास्क की अनिवार्यता को मंदिर प्रांगण में पूर्ण रूप से लागू करने का निर्देश संबंधित अधिकारियों व प्रतिनियुक्त दंडाधिकारियों को दिया। साथ ही सुरक्षा व्यवस्था को लेकर विभिन्न बिंदुओं पर विस्तृत चर्चा करते हुए पर्याप्त संख्या में पुलिस पदाधिकारियों व जवानों की प्रतिनियुक्ति करने का निर्देश मंदिर प्रांगण व आसपास के क्षेत्रों में दिया है। 

इसके अलावे बैठक के दौरान बाबा मंदिर प्रभारी दिनेश कुमार यादव ने कहा कि मंदिर प्रशासन व जिला प्रशासन लगातार प्रयासरत है कि यहां आने वाले श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पड़े। समीक्षा के क्रम में उन्होनें संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि श्रद्धालुओं की सुविधा व सुरक्षा को देखते हुए मंदिर व आसपास के क्षेत्रों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने की तैयारियों को सुनिश्चित करते हुए अवगत कराएं। साथ ही सुरक्षा व्यवस्था को लेकर मंदिर परिसर में लगाये गये सीसीटीवी कैमरे, बैरिकेडिंग, पार्किंग व्यवस्था को लेकर संबंधित अधिकारीयों को आवश्यक व उचित दिशा निर्देश दिया गया।

■ इसके अलावे बाबा मंदिर प्रभारी श्री दिनेश कुमार यादव ने वर्ष, 2021 (प्रथम जनवरी) के अवसर पर मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं की काफी भीड़ होने की संभावना को देखते हुये श्रद्धालुओं को सुलभ दर्शन-पूजन कराने हेतु दिनांक-31.12.2020 मध्य रात्रि से दिनांक 02.01.2021 तक निम्न प्रकार से दर्शन-पूजन की व्यवस्था की गई है....

1. बाबा मंदिर प्रातः 3ः05 बजे सरकारी पूजा हेतु खोला जायेगा।

2. सरकारी पूजा के पश्चात् प्रातः 04ः00 बजे से संध्या 04ः00 बजे तक बाबा मंदिर का पट आम श्रद्धालुओं के लिए खोला जायेगा।

3. अर्घा के माध्यम से जलार्पण किया जायेगा, स्पर्श पूजा की अनुमति नहीं होगी। 

4. श्रृंगार दर्शन के लिए श्रद्धालु मंदिर परिसर स्थित सरस्वती मंदिर के रास्ते संस्कार मंडप होते हुए गर्भ से दर्शन करते हुए बाहर निकल जायेंगे। साथ ही मंदिर के सभी दरवाजे खुले रहेंगें।

5. श्रद्धालुओं को मास्क का उपयोग एवं समाजिक दूरी का अनुपालन करना अनिवार्य होगा।

6. बिना मास्क के मंदीर परिसर में प्रवेश की अनुमति नही दी जाएगी।

No comments