ऑनलाइन बैठक के माध्यम से उपायुक्त ने अनुमंडल पदाधिकारी सभी प्रखण्डों के प्रखण्ड विकास पदाधिकारी व अंचलाधिकारी को दिए आवश्यक दिशा-निर्देश



उपायुक्त-सह-जिला दंडाधिकारी  मंजूनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में ऑनलाइन बैठक का आयोजन समाहरणालय सभागार से किया गया। इस दौरान उपायुक्त ने वनाधिकार पट्टा हेतु लाभुकों की चयन की स्थिति, पीएम किसान योजना, राजस्व से संबंधित मामले, अंचलों में लगने वाले कोर्ट के साथ विभिन्न मामलों की बिन्दुवार समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को आवश्य व उचित दिशा-निर्देश दिया।

इसके अलावे बैठक के दौरान सभी प्रखण्डों से वनाधिकार पट्टा पाने की अर्हता रखने वाले लाभुकों की चयन प्रक्रिया की समीक्षा करते हुए अपने-अपने प्रखण्डों से आगामी 12 दिसम्बर, 2020 तक योग्य लाभुकों को चयनित करते हुए उसकी सूची अनुमंडल कार्यालय में समर्पित करने का निदेश दिया। साथ हीं अनुमंडल पदाधिकारी को चयन प्रक्रिया की जांच करते हुए 15 दिसम्बर, 2020 तक प्रतिवेदन उपायुक्त कार्यालय को समर्पित करने का निदेश दिया। इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री द्वारा बतलाया गया कि अनुसूचित जनजाति और अन्य परंपरागत वन निवासी वन अधिकारों की मान्यता अधिनियम काफी महत्वपूर्ण है। इस कानून में जो लोग वन भूमि पर स्वयं खेती कर जीविकोपार्जन करते आ रहे हैं, उन्हें उस वन भूमि का पट्टा देने के साथ जंगल पर लोगों को सामुदायिक अधिकार देने का प्रावधान है। ऐसे में हम सभी को जिम्मेवारी बनती है कि वैसे लोगों को चिन्ह्त करते हुए उन्हें उनका हक दिलाने में इनका सहयोग करें।

ज्ञात हो कि माननीय मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन द्वारा राँची में सभी चयनित लाभूकों को वन अधिकार पट्टा दिया जाना है। 

■ पीएम किसान योजना के कार्य में लायें तेजीः-उपायुक्त....

समीक्षा बैठक के दौरान उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री ने पीएम किसान के तहत चल रहे कार्यों की समीक्षा करते हुए आपसी समन्वय के साथ इस जमीनीं स्तर पर कार्य करने का निदेश संबंधित अधिकारियों को दिया। इसके अलावे उन्होंने पीएम किसान योजना के तहत चल रहे कार्यों एवं किसान के्रडिट कार्य से ज्यादा से ज्यादा कृषकों को लाभान्वित करने का निदेश अधिकारियों को दिया। साथ हीं पीएम किसान योजना के तहत हो रहे रिजेक्शन को लेकर संबंधित अधिकारियों को सख्त निदेशित किया कि बेहतर समन्वय व पारदर्शी तरीके से कार्य करें, ताकि किसानों को उनका लाभ सही तरीके से मिल सके।

■ उपायुक्त ने राजस्व के कार्य को लेकर अंचलाधिकारियों को दिये आवश्यक निर्देश....

इसके अलाव बैठक के दौरान उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री ने राजस्व लगान की वसूली, अवैध जमाबंदी के कार्यों को लेकर संबंधित अधिकारियों व अंचलाधिकारियों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए राजस्व कार्यों में तेजी लाने का निदेश दिया। साथ हीं जरूरत के अनुकूल सभी अंचलों में हल्कावार राजस्व कर्मचारियों के साथ बैठक कर कार्यों में तेजी लायें। इस दौरान उन्होंने अपने-अपने प्रखण्डों अतिक्रमण व अवैध बंदोबस्ती को लेकर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया गया।

समीक्षा बैठक के क्रम में उपायुक्त ने अंचलों में चलने वाले कोर्ट से जुड़े कार्यों की समीक्षा करते हुए संबंधित अंचलाधिकाकरयों को निदेशित किया कि मामलों के निष्पादन हेतु आवश्यकता अनुरूप कोर्ट लगाने की कार्रवाई करें। साथ हीं कोर्ट के कार्य प्राथमिकता के आधार पर करें। इसके अलावे प्रखण्ड स्तर पर न्यायालयों संबंधि मामलों की की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया गया।

मौके पर उपरोक्त के अलावे अपर समाहर्ता चन्द्र भूषण प्रसाद सिंह, प्रशिक्षु आईएएस संदीप मीणा, जिला भू-अर्जन पदाधिकारी उमाशंकर प्रसाद, सामान्य शाखा पदाधिकारी सुश्री मीनाक्षी भगत, सीएससी मैनेजर सत्यम प्रकाश एवं संबंधित विभाग के अधिकारी आदि उपस्थित थे।

No comments