झारखंड की हेमंत सरकार किसान विरोधी है:- ज्ञानरंजन सिन्हा



धनबाद गोविंदपुर  । ग्रामीण भाजपा जिलाध्यक्ष ज्ञानरंजन सिन्हा ने सोमवार को यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार किसान विरोधी है और देश के किसानों के हित का ढोंग कर रही है । उन्होंने कहा कि भाजपा के तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुवर दास ने प्रति एकड़ ₹5000 किसानों को अनुदान राशि प्रतिवर्ष देने की परंपरा शुरू की थी, जिसे हेमंत सरकार ने बंद कर दिया। श्री सिन्हा ने कहा कि केंद्र सरकार के लिए कृषि प्राथमिकता है और किसानों का हित सर्वोपरि है और इसी मंशा से किसानों के मुद्दों के समाधान और आशंकाओं को दूर करने के लिए पहल की गई है। और इस पहल को आगे भी जारी रखने के लिए सरकार के द्वार खुले हुए हैं । वित्त वर्ष 20_21 में किस में कृषि विभाग का बजट वर्ष 2013_ 14 के बजट का 6 गुना है। केंद्र सरकार ने सभी खरीफ, रवि एवं अन्य वाणिज्यिक फसलों के लिए एमएसपी में वृद्धि की है । किसानों के ऊपर लगी पाबंदियों को हटाने तथा उन्हें विपणन के पुराने विकल्प को चालू रखते हुए नए विकल्प उपलब्ध कराए गया है , ताकि उन्हें उपज का अधिक दाम मिल सके । उन्होंने कहा कि किसानों को अपनी फसल किसी को कहीं भी और किसी भी समय बेचने की आजादी और भुगतान भी निश्चित समय सीमा में प्राप्त करने का अधिकार दिया गया है। अंतर राज्य एवं राज्य के भीतर बाधा मुक्त व्यापार हेतु इको सिस्टम उपलब्ध कराया गया है। उन्होंने मंगलवार को धनबाद में आयोजित किसान महापंचायत में अधिक से अधिक संख्या में किसानों की भागीदारी की अपील की है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में जिला उपाध्यक्ष नंदलाल अग्रवाल एवं जयप्रकाश सिंह, मंत्री फिरोज दत्ता, मीडिया प्रभारी रतिरंजन गिरि आदि शामिल थे।

No comments