तेजस्विनी स्टोर उप्लब्ध करायेगा किशोरियों की कलाकृति इसको लेकर तेजस्विनी स्टोर की हुई स्थापना



मधुपुर 19 दिसंबर मधुपुर प्रखंड के 21पंचायत के 112 तेजस्विनी क्लबों की किशोरियों द्वारा अपने बनाई हुई सामग्री को एक स्थान से बेच भी सके और उन्हें खरीद भी सके, जिसके लिए समन्वय स्थान के रुप में  तेजस्विनी स्टोर की स्थापना की गई तेजस्विनी परियोजना के तहत क्लब की किशोरियों का आर्थिक और सामाजिक सशक्तीकरण करना है जिसके तहत किशोरियों के साथ चर्चा परिचर्चा करने के बाद समूह समन्वय के सहयोग से समूह समन्वयक  और युवा उत्प्रेरक  ने उन सामग्री को  तेजस्विनी स्टोर के माध्यम से  किशोरियों के बीच उपलब्ध  कराया।किशोरियों को यह सामग्री आसानी से एक जगह पर उपलब्ध हो जाएगी इसके लिए  तेजस्विनी स्टोर की पहल  बेहद ही विशिष्ट है, झारखंड की  संस्कृति में  आपसी सहयोग और संसकृतिक विरासत, कलाकृतियाँ , हस्त कलाओं से निर्मित सामग्री की आदान प्रदान की व्यवस्था की गयी हैं।मधुपुर की पहली तेजस्विनी स्टोर की स्थापना का उद्धेश्य महिलों और किशोरियों को अपने हुनर के माध्यम से आगे बढ्ने मे मदद करना है, जिसका उद्घाटन क्लब किस किशोरियों ने ही किया।

 मधुपुर मे बहुत सी ऐसी किशोरियां एवं महिलाए है जो विशिष्ट  कला के साथ किसी भी बेकार पड़े वस्तु में  जान डाल सकती है , घर के साजो सज्जा के समानके साथ किशोरियां कार्य मे उपयोगी वस्तुओ का निर्माण  कर रही है,  कोविड के इस दौर मे जहाँ बाज़ार की गिरती स्थिती  मे आम लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है वही किसी वस्तुओं का आधिकतम उपयोग करने का हुनर तेजस्विनी किशोरियां सिखा रही हैं। Igs  के सहयोग से मधुपुर प्रखंड मे तेजस्विनी परियोजना के माध्यम से 14 वर्ष से 24 वर्ष की किशोरियो के लिए आर्थिक और सामाजिक सशक्तिकरण  करने का काम लगातर रूप से किया जा रहा हैं। तेजस्विनी स्टोर के शुभारंभ पर सभी समूह समन्वयक ईशरत प्रवीण,स्नेहा कुमारी, रेखा कुमारी ,निखत प्रवीण, मनीषा कुमारी ,मधू रानी मधू,  सोफिया इरम , मुस्कान परवीन, सना, आमरि, नफिषा, जुगनु, दिलकश, छोटी, अदिबा, सोफिया,  सोनी, प्रीती गुण गुण, पूजा , रीमा देवी  इत्यादि मौजूद रही!

No comments