करौ बस स्टैंड में लगभग 9 महीने का सन्नााटा खत्म, बसों के हॉर्न से गूंजा स्टैंड,करौ से रानीगंज जाने वाले यात्रियों में खुशी लहर



करौ प्रखंड मुख्यायल में आखिरकर लगभग 9 महीने के बाद फिर से एक बार बस स्टैंड पर रौनक बढ़ गई। वैश्विक महामारी कोरोना को लेकर लेकर पिछले 25 मार्च से लॉक डाउन होने के कारण होने के कारण करो बस स्टैंड पूरी तरह से बंद हो गई थी जिसके बाद लगभग 9 महीने तक कोई भी बस का हॉर्न स्टैंड पर गूंजने को नहीं मिल रहा था।लेकिन अब धीरे-धीरे स्टैंड की रौनक फिर से लौटने के साथ बसों की हॉर्न से स्टैंड गूँजने लगी है।इसी क्रम में करो बस स्टैंड में रानीगंज के लिए बस रुकने के साथ ही ही के साथ ही आसपास के दुकानदारों समेत लोगों में चाहल पर बढ़ने बढ़ने लगी है।स्थानीय ग्रामीणों के द्वारा बताया जाता है कि करौ बस स्टैंड से रोजाना सुबह के 11 बजने के साथ ही बस स्टैंड के आसपास लोग इंतजार में खड़े होना शुरू हो गई।रानीगंज। जाने के लिए लाल बस  करो के लिए लाइफ लाइन  है।बस से यात्री आवागमन के साथ करो के लिए ट्रांसपोर्टिंग का भी काम  करता है।वही बस में  सवारी कर रहे यात्रियों का कहना है कि  बस का परिचालन शुरू होने से परेशानी दूर हो गई है।पहले आवागमन में बहुत सारी कठिनाई का सामना करना पड़ता था।इसके साथ ही डेली पैसेंजर लोगों को भी अपने काम के लिए इस बस से  रानीगंज जाने में आराम हो रही है।बस पुनः शुरू होने से  यात्रियों में खुशी का माहौल है!

No comments