हैवान चाचा ने 3 साल की मासूम भतीजी को बनाया हवस का शिकार आरोपी जेल



गोड्डा :गोड्डा जिले में इन दिनों हैवानियत का हाहाकार मचा हुआ है। लाख कोशिशों के बाद भी समाज में महिलाओं और बच्चियों के साथ अपराध कम होने का नाम नहीं ले रहे है।झारखंड महिलाओं और युवतियों और मासूम बच्चियों के साथ आए दिन ऐसी घटनाएं हो रही है जो लगातार सरकार को कटघरे में खड़ा कर रहे हैं ।इसी बीच एक ऐसा मामला सामने आया है जो जिले को एक बार फिर से इंसानियत को शर्मसार करने वाली खबर आई है। हैरान करने वाली बात ये है कि इस 3 साल की मासूम बच्ची के साथ बलात्कार किसी अनजान ने नहीं बल्कि अपने ही चाचा लगने वाले सरफराज अंसारी शख्स ने किया है।गोड्डा जिला के ललमटिया थाना क्षेत्र से हैवान चाचा ने अपने ही 3 साल की मासूम भतीजी को हवस का शिकार बना लिया चाचा ने हैवानियत की सारी हदें पार कर दिया इस बात को लेकर पीड़ित के परिजनों द्वारा थाने में मामला दर्ज कराया गया है ।बताया जा रहा है कि कुकर्मी चाचा ने पहले अपनी मासूम भतीजी को चॉकलेट बिस्कुट दिलाने के नाम पर मोटरसाइकिल पर बिठाकर घर से कुछ दूर जंगल की ओर लेते गया इसके बाद हाइवान चाचा ने अपने ही मासूम भतीजी के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया इसके बाद मासूम बच्ची को जंगल में छोड़ कर हाइवान चाचा फरार हो गया है।जब कुछ घंटे मासूम बच्ची को लेकर घर नहीं पहुंचा तो परिजनों ने खोजबीन शुरू की जिस वक्त दुष्कर्मी चाचा मासूम भतीजी को मोटरसाइकिल पर बिठा कर ले जा रहा था तो उस वक्त किसी ने ले जाते वक्त बच्ची को देखा भी था काफी खोजबीन के बाद मासूम बच्ची जंगल में चीख-पुकार की आवाज सुनाई दी बताया जा रहा है कि 3 साल के मासूम बच्ची के प्राइवेट पार्ट्स में काफी जख्म के निशान हैं इससे मासूम की हालत काफी गंभीर हो गई है बच्ची को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है क्या उसका इलाज चल रहा है पुलिस ने आरोपी चाचा सरफराज अंसारी को गिरफ्तार कर लिया लेकिन रिश्तों को कलंकित करने वाली इस घटना ने सभी को सुन्न कर दिया है। इस मामले को लेकर एसडीपीओ आनंद मोहन सिंह ने कहा दुष्कर्म के आरोपी को जेल भेज दिया गया है जिस बच्ची के साथ दुष्कर्म किया गया है उस बच्ची को मेडिकल जांच के लिए सदर अस्पताल गोड्डा भेजा गया है और कहा जो इस तरह की घिनौनी हरकत करते हैं उसे कोई रियायत नहीं मिलने वाला है सख्त कार्रवाई होगी ऐसी घिनौनी हरकत करने वाले को कड़ी सजा दिलाई जाएगी ।

-आनंद मोहन सिंह (एसडीपीओ गोड्डा)

पारस  झा की रिपोर्ट

No comments