नाबालिक बच्चे पढाई छोड़ मांग रहे भीख



गोड्डा:गोड्डा जिले के मेहरमा थाना क्षेत्र के कुछ गांवो में इन दिनों गरीबी भूख प्यास से बेचैन बच्चे भीख मांगने को बेबस है। नाबालिक बच्चे की लंबी लंबी लाइन लगी हुई रहती है सबेरे सबेरे एक नाबालिक लड़की से जब एक मीडियाकर्मी की कैमरा उस पर पड़ी तो कैमरे के सामने से भागते हुए नजर आई।और वह मीडियाकर्मी को बताया कि मेरी खबर को टीवी व अख़बार में नही प्रकाशित करें। मेरे भैया मुझे मारने लगेंगे।हालाँकि सवाल तो उठता है कि जब जिला में बाल श्रम पदाधिकारी है तो इन नाबालिकों पर ध्यान क्यों नही गई।अगर गोड्डा जिले के बाल श्रम पदाधिकारी की नजर इस ओर नही गई तो क्या जिले से लेकर प्रखंड तक के अधिकारियो की नजर इस ओर नही दौड़ी?अगर नही तो इनको अगर कुछ हो जाती है तो इनका जबाबदेही कौन होगा।जब मीडियाकर्मी ने पढाई के बारे में बात की तो वह बोली की मैं नही पढता हूँ साहब। मेरे माता-पिता इतना अमीर नही है जो पढ़ा सके।हालाँकि जिले में  बालश्रम पदाधिकारी से जब बात की गई तो उन्होंने बताया की ऐसे बच्चो को चिन्हित कर उनके नाम पता दे।कुछ ग्रामीणों का कहना था की झारखण्ड में बहुत ऐसे गांव में नाबालिक बच्चे अपनी जिंदगी के साथ खिलवाड़ करते हुए भीख मांगने का काम करते है अगर जिला बालश्रम पदाधिकारी व जिला प्रशासन की ओर इस तरफ नही दौड़ी तो आने वाले समय में नाबालिक बच्चे की जिंदगी बर्बाद हो जायेगी।

No comments