उपायुक्त ने रक्त संग्रहण चलंत वाहन को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना



देवघर शुक्रवार को उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी  कमलेश्वर प्रसाद सिंह द्वारा लोगों को रक्तदान हेतु प्रेरित करने के उद्देश्य से रक्त संग्रहण चलंत वाहन को हरी झंडी दिखाकर समाहरणालय परिसर से रवाना किया गया। इस दौरान मौके पर उपस्थित मीडिया प्रतिनिधियों को उपायुक्त द्वारा जानकरी दी गई कि पूरे संथाल परगना क्षेत्र में रक्तदान को बढ़ावा देने और लोगों को जागरूक करते हुए वाहन घूम-घूम कर लोगों को रक्तदान के प्रति जागरूक करने के साथ-साथ रक्त संग्रहण का कार्य भी करेगा। इस चलंत वाहन में सभी आवश्यक संसाधन से युक्त सारी व्यवस्था के साथ संबंधित कर्मी मौजूद रहेंगे।

इस अवसर पर उपायुक्त द्वारा कहा गया कि रक्तदान कर के न सिर्फ किसी की जिंदगी बचाने जैसी अनमोल खुशी मिलता है बल्कि इससे हमारे सेहत को भी लाभ पहुँचता है। कई लोग यह सोचकर रक्तदान नहीं करते हैं कि इससे उनका सेहत खराब हो जाएगा, जो कि एक भ्रम के अलावा कुछ भी नहीं है। ऐसे में लोग सोचते हैं कि रक्तदान करने से शरीर में खून की कमी हो जायेगी और वे बीमार पड़ जायेंगे, जो कि पूर्णतः मिथ्या है। रक्तदान महादान है, वास्तव में सच यह है कि रक्तदान करने के पश्चात कुछ समय में हीं हमारे शरीर में दिये गये रक्त की आपूर्ति पुनः हो जाती है। इसका कोई प्रतिकूल प्रभाव हमारे स्वास्थ्य पर नहीं पड़ता है। 

उन्होंने आगे कहा कि रक्तदान करने से जो खुशी व स्वास्थ्यवर्द्धक लाभ हमें मिलता है, वह दूसरे किसी और तरीके से नहीं मिल सकता है।

इसके अलावे उपायुक्त  कमलेश्वर प्रसाद सिंह ने कहा कि कभी-कभी ब्लड बैंक में रक्त की अनुपलब्धता होने से रक्त की आवश्यकता पड़ने पर मरीजों को काफी कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में आवश्यक है कि हम सभी आगे आएं और एक अच्छे उद्देश्य की पूर्ति हेतु अवश्य रक्तदान करें। वर्तमान में सबसे महत्वपूर्ण तथ्य ये भी है कि स्वयं को सेहतमंद रखने का यह सबसे अच्छा तरीका है कि हम सभी रक्तदान करें।इस दौरान उपरोक्त के अलावअपर समाहर्ता  चन्द्र भूषण प्रसाद सिंह एवं स्वास्थ्य विभाग चिकित्सक व ब्लड बैंक के अधिकारी आदि उपस्थित थे।

No comments