चार दिवसीय महापर्व छठ नहाए खाए के साथ बुधवार को हुई आरम्भ!


मधुपुर:सूर्योपासना चार दिवसीय महापर्व छठ बुधवार को नहाय खाय के साथ शुरू हो गया।वही व्रती महिलाओं ने पर्व के निमित्त गेहूं को नियम निष्ठा के साथ सुखाया.मालूम हो कि छठ पर्व में नियम,धर्म,पवित्रता व शुद्धता का विशेष ख्याल रखा जाता है.इससे पूर्व बुधवार को नहाय खाय के दिन मिट्टी के चूल्हे पर लकड़ियां जोड़ कर अरवा चावल का भात व कद्दू की सब्जी व्रतियों द्वारा बनाया गया. व्रतियों द्वारा चावल व कद्दू की सब्जी को प्रसाद के रूप में ग्रहण किया गया.इसके बाद घर के सदस्यों ने उसी थाली में खाकर प्रसाद पाया.छठ पर्व के दूसरे दिन गुरुवार को खरना मनाया जायेगा.देर रात खरना का प्रसाद खाने के साथ ही व्रती महिलाओं 36 घंटे का निजर्ल व निराहार व्रत प्रारंभ हो जायेगा,जिसकी तैयारी में हिंदू श्रद्धालु तन मन से जुट चुके हैं. शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में मिट्टी के चूल्हे व आम के सूखे लकड़ियों की खरीदारी हुई.खरना का पवित्र प्रसाद इसी चूल्हे पर बनेगा.इधर खरना की तैयारी को लेकर बाजार में सुबह से ही चहल पहल बनी रही.दूध,घी,चीनी,अरवा चावल सहित अन्य आवश्यक वस्तुओं की बिक्री परवान पर रही!

No comments