सार्वजनिक स्थानों, मंदिरों, कार्यालय, व्यसायिक प्रतिष्ठान पर मास्क अनिवार्य:- उपायुक्त



उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी मंजूनाथ भंजत्री ने जिलावासियों से अपील करते हुए कहा है कि वर्तमान में एक बार फिर से कोरोना संक्रमण का प्रकोप देश के विभिन्न राज्यों में बढ़ता जा रहा है। ऐसे में हम सभी को पहले के बनिस्पत और भी सजग-सतर्क व सावधानी बरतने की जरूरत है, ताकि लॉकडाउन जैसी स्थिति दुबारा उत्पन्न न हो।

हम सभी जान रहे हैं कि जब तक दवाई नहीं बन जाती तब तक कोरोना महामारी से बचाव हेतु तीन नियमों का अनुपालन कर अपने आप को और अपने परिवार को सुरक्षित रख सकते हैं। ऐसे में अपने घरों से बाहर निकलते समय चेहरे और नाक को अच्छे से मास्क या रूमाल से ढंक कर रखें। एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के बीच दो से चार मीटर तक की दूरी बना कर रहें। सबसे महत्वपूर्ण स्वच्छता पर विशेष ध्यान रखते हुए अपने हाथो को थोड़े समय के अंतराल पर साबुन या हैंडवॉश (सेनिटाइजर) से अवश्य धोएं। कोरोना को लेकर साफ-सफाई का ध्यान रखते हुए बेवजह अपनी आंख, नाक या मुंह को हाथों से न छुएं। तंबाकू, गुटखा व धूम्रपान का उपयोग न करते हुए सार्वजनिक स्थानों पर न थूकें और दूसरों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करें।

■ जागरूकता, सर्तकता और सावधानी हीं कोरोना से बचाव की कड़ीः उपायुक्त....

इसके अलावे उपायुक्त ने कहा कि प्रायः लोग ऐसा सोचते हैं कि कोरोना संक्रमित मरीज के रिपोर्ट निगेटिव आ जाने के पश्चात उन्हें डरने की कोई आवश्यकता नहीं है। बल्कि हमें अब पहले से अधिक और भी सतर्क व सजग रहने की जरूरत है। वर्तमान में स्वास्थ्य सुरक्षा के दृष्टिकोण से केंद्र व राज्य सरकार द्वारा निर्धारित उन सभी उपायों का अनुपालन करें, जिससे की हम अपने परिवार व अपने समाज को स्वास्थ्य रख सके।

■ मास्क, 2 गज की दूरी और साफ-सफाई पर दे विशेष रूप से ध्यान- उपायुक्त....

इसके अलावे उपायुक्त ने बाबा बैद्यनाथ मंदिर आने वाले देवतुल्य श्रद्धालुओं से आग्रह करते हुए कहा कि मंदिर में प्रवेश करने से पहले मास्क का उपयोग अवश्य रूप से करें। वर्तमान में अपनी अपनी सुरक्षा के साथ दूसरों की सुरक्षा का भी ध्यान रखना आवश्यक है। यदि आप ऐसा नहीं कर सके तो फिर न केवल आप कोरोना की चपेट में आ सकते हो, वरन अन्य दूसरे लोग भी आपके संपर्क में आने से कोराेना प्रभावित हो सकते हैं।

No comments