मृतक की लाश के साथ परिजनों व ग्रामीणों ने किया सड़क जाम

हत्यारे की जल्द गिरफ्तारी व मुआवजे की मांग
फोटो : जाम कर रहे लोगों को समझाते बीडीओ व निवर्तमान थाना प्रभारी
सारठ : बीते शुक्रवार को सारठ-देवघर मुख्य पथ स्थित खरवा जोरिया पुल के समीप मिली 45 वर्षीय सुंदर सिंह का शव पोस्टमार्टम के बाद शनिवार को जैसे ही सारठ पहुंचा, परिजनों व ग्रामीणों ने शव को सड़क पर रखकर सारठ-देवघर मुख्य पथ को  वर्मा टोला के समीप जाम कर दिया। परिजनों का कहना था कि पुलिस जल्द मृतक सुंदर सिंह के हत्यारे को गिरफ्तार करे और मृतक की विधवा पत्नी और पुत्री के भरण-पोषण के लिए सरकारी मुआवजा दे। इधर सड़क जाम की सूचना पाकर एसआई राजेन्द्र सिंह, एएसआई अशोक पांडेय पुलिस बलों के साथ जाम स्थल पर पहुंचकर जाम हटाने का प्रयास किया। लेकिन परिजन हत्यारे की गिरफ्तारी व मुआवजे की मांग पर अड़े रहे। जिसके बाद एसआई राजेन्द्र सिंह ने सड़क जाम की सूचना बीडीओ साकेत कुमार सिन्हा और एसडीपीओ आमोद नारायण सिंह को दिया। इसके बाद बीडीओ भी जाम स्थल पर पहुंचकर परिजनों को समझा-बुझाकर जाम हटवाया। बीडीओ ने मृतक की विधवा को परिवारिक लाभ के तहत 20 हजार, विधवा पेंशन व प्रधानमंत्री आवास देने की बात कही। वहीं परिजनों की दयनीय स्थिति को देखते हुए लाश के दाह-संस्कार के लिए व्यक्तिगत रूप से बीडीओ और एसआई ने दो-दो हजार रुपये का सहयोग किया। मृतक की पत्नी गीता देवी ने एसआई राजेन्द्र सिंह के समक्ष पति के हत्यारे का नाम भी बताया और हत्यारे की जल्द गिरफ्तारी की मांग की। वहीं सड़क जाम की जानकारी मिलने पर स्थानीय विधायक रणधीर सिंह ने भी बीडीओ और परिजनों से मोबाइल पर बात किया और अपने स्तर से दस हजार का आर्थिक सहयोग मृतक के परिजनों को दिलवाया । वहीं बीडीओ साकेत कुमार सिन्हा ने कहा कि परिजनों द्वारा हत्यारे की अभिलंब गिरफ्तारी की मांग के अलावे परिवारिक लाभ, विधवा पेंशन, एक यूनिट आवास आदि देने की मांग की गई है। ऐसे में सरकारी प्रावधान के तहत हर संभव सहयोग किया जायेगा। बीडीओ द्वारा संबंधित पंचायत सेवक को निर्देश दिया गया कि अभिलंब मृतक के परिवार को सभी जरूरी कागजात उपलब्ध कराएं और मृतक के विधवा से आवेदन लेकर कार्यालय में सभी कागजात जमा करे, ताकि सभी प्रक्रिया पूरी कर परिजनों को सभी तरह का सरकारी लाभ दिलाया जा सके।

No comments