हत्या की शिकार पुत्री के पिता ने एसडीपीओ से मिलकर हत्यारे की गिरफ्तारी की मांग की


: एसडीपीओ से मिलने के बाद जानकारी देते विजय चौधरी

सारठ : दहेज की खातिर बेटी की हत्या करने के ढाई माह बीतने के बाद भी हत्यारे की गिरफ्तारी नहीं होने को लेकर मृतक महिला के पिता विजय चौधरी ने एसडीपीओ आमोद नारायण सिंह से मिलकर न्याय की गुहार लगाई। गिरिडीह जिला के देवरी थाना के घसकरीडीह निवासी विजय चौधरी ने एसडीपीओ को बताया कि उनकी 20 वर्षीय पुत्री मधु कुमारी की शादी 21 मई 2019 को पथरड्डा थाना के रक्सा गांव निवासी सूरज राय के साथ हुई थी। लेकिन शादी के कुछ दिन बाद से ही ससुर अनिल राय, सास सावित्री देवी व पति सूरज राय  दहेज में बुलेट, टीवी एवं फ्रिज की मांग कर रहे थे। इसको लेकर अक्सर ससुराल वाले मेरी बेटी मधु के साथ शारीरिक व मानसिक प्रताड़ना देते थे। शादी के बाद न तो उनके पुत्री को मायके जाने देते थे और न ही फोन पर बात करने देते थे। इसको लेकर कई बार ससुराल वाले से निहोर विनती भी किये। इसी बिच 16 अगस्त को सूचना मिला की मधु की मौत हो गई है। सूचना पर परिजन रक्सा गांव पहुंचे तो देखा कि मधु का शव खाट पर पड़ी हुई है तथा गले मे जख्म का निशान है। ससुराल वाले सभी घर से भाग गए थे। इस संबंध में मृतका के पिता के बयान पर थाने में दहेज हत्या का मामला दर्ज किया गया है। लेकिन आज तक पुलिस ने आरोपी की गिरफ्तारी के लिए कोई प्रयास नहीं किया। आरोपी पति सूरज राय ने न्यायलय में आत्मसमर्पण कर दिया है। लेकिन सास व ससुर आज भी घर पर रह रहा है। वहीं आरोप लगाया कि पुलिस दहेज हत्या को आत्महत्या करार देने में लगी हुई है। चौधरी ने इस संबंध में पुलिस महानिरीक्षक रांची, पुलिस उपमहानिरीक्षक दुमका, पुलिस अधीक्षक देवघर आदि को भी पत्र लिखकर कांड का पुनर पर्यवेक्षण करने की मांग की है।
 वहीं इस संबंध में एसडीपीओ आमोद नारायण सिंह ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हैंगिंग बताया गया है। पूर्व के एसडीपीओ ने भी मामले में अपनी जांच रिपोर्ट दे चुके है।

No comments