छात्रवृति योजना का लाभ तय समय मिले बच्चों कोः-उप विकास आयुक्त

 


देवघर उप-विकास आयुक्त  संजय कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में बैंकर्स, सामाजिक सुरक्षा, पेंशन, छात्रवृति, पी0एम0ई0जी0पी0, जे0एस0एल0पी0एस0, एवं बैंकों से संबंधित मामलों का निपटारा हेतु समीक्षा बैठक का आयोजन समाहरणालय में किया गया। इस दौरान आज उप-विकास आयुक्त द्वारा छात्रवृति की समीक्षा करते हुए जिला स्तर पर छात्रवृति योजना की अद्यतन स्थिति से अवगत हुए। 

इसके अलावे बैठक के दौरान उप-विकास आयुक्त द्वारा जिले में छात्रवृति भुगतान हेतु डीबीटी के माध्यम से कराये जा रहे कार्यों की समीक्षा करते हुए जिला कल्याण पदाधिकारी व जिला शिक्षा पदाधिकारी को निदेशित किया कि जितने भी छात्रों का खाता आधार संख्या से नहीं जुड़ पाया है या जिन छात्रों का आधार नहीं बन पाया है, उन सभी छात्रों के सुविधा को देखते हुए संबंधित विभाग से समन्वय स्थापित करते हुए आधार कार्ड बनवाये एवं संशोधन कराने का कार्य करवाया जाय, ताकि बच्चों को छात्रवृति का भुगतान जल्द से जल्द सुनिश्चित की जा सके। बैठक के दौरान उप-विकास आयुक्त द्वारा 10 वर्ष या फिर उससे कम उम्र के छात्रों का बैंक खाता खोलने में आर रही समस्या के सम्बंध में जिला कल्याण पदाधिकारी को निदेशित करते हुए कहा कि राज्य स्तर पर विभाग से पत्राचार के माध्यम से दिशा-निर्देश मांग लिया जाय, साथ ही अग्रणी बैंक प्रबंधक (LDM) से भी समन्वय स्थापित करते हुए आगे की रणनीती तैयार कर लें।

समीक्षा के क्रम में उपविकास आयुक्त द्वारा समाजिक सुरक्षा के अंतर्गत मिलने वाले वृद्धा पेंशन, विकलांग पेंशन हेतु प्राप्त आवेदनों एवं उनके स्वीकृत के अद्यतन स्थिति से अवगत हुए एवं प्रभारी पदाधिकारी सामाजिक सुरक्षा कोषांग को निदेश दिया कि पेंशन से संबंधित कोई भी मामला लंबित ना रखे तथा शतप्रतिशत लक्ष्य की पूर्ति करे। साथ हीं उपविकास आयुक्त द्वारा प्रभारी पदाधिकारी सामाजिक सुरक्षा कोषांग को निदेश दिया कि प्रखंड स्तर पर जितने भी लोगो को पेंशन दिया जाता है उसकी सूची को समय-समय पर उपडेट करते रहे ताकि किसी भी स्थिति में योग्य लाभुक छूटने ना पाये। साथ ही इसके माध्यम से इस बात की भी पुष्टि हो जाएगी कि उपरोक्त सूची में कितने लोग जीवित है है फिर कितनों की मृत्य हो गई है। आगे उन्होंने कहा कि पेंशन से संबंधित मामलो का निष्पादन अत्यधिक तीव्र गति से करें, क्योंकि ऐसे मामले सीधे-सीधे जनकल्याण से जुड़े होते है। साथ ही मामलों के त्वरित निष्पादन हेतु सभी विभागों को आपसी समन्वय के साथ कार्य करने का निर्देश दिया।इसके अलावा उप विकास आयुक्त  संजय कुमार सिन्हा द्वारा प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत विभिन्न बैंको को प्राप्त आवेदनों के समीक्षा करते हुए अग्रणी बैंक प्रबंधक को निदेश दिया कि जो भी आवेदन आ रहे है सभी का निष्पादन प्राथमिक्ता के आधार पर करें किसी भी आवेदन को लंबित ना रखें। साथ ही महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र को निदेश दिया कि बैंक एवं आवेदकों के साथ समन्वय स्थापित रखे ताकि किसी भी प्रकार का समस्या हो तो त्वरित उसका निष्पादन किया जा सके। उपविकास आयुक्त द्वारा जिला कार्यक्रम प्रबंधक जे०एस०एल०पी०एस० को निदेश दिया कि वैसे स्वयं सहायता समूह जिनके खाता के क्रेडिट लिंकेज में समस्या आ रही हों तो सबंधित बैंक जिसके साथ समस्या आ रही है सूची बना कर अग्रणी बैंक प्रबंधक को उपलब्ध कराए सभी का समाधान कराया जा सके। बैठक के दौरान उन्होंने अंचल स्तर पर कम्बल वितरण के उपयोगिता प्रमाण पत्र उपलब्ध कराने के संबंध में सबंधित जिला स्तर पर संबंधित अधिकारी को निदेश दिया कि सभी को अंतिम स्मार दे। इसके उपरांत भी अगर उपयोगिता प्रमाणपत्र नही मिलता है तो सबंधित अंचलाधिकारी के विरुद्ध विधिसम्मत कार्यवाई की जाएगी।बैठक में ऊपरोक्त के अलावे महाप्रबंधक जिला उधोग केंद्र श्री सैमरोम बरला, निदेशक जिला ग्रामीण विकास अभिकरण श्रीमती नयनतारा केरकेट्टा, प्रभारी पदाधिकारी, सामाजिक सुरक्षा कोषांग  परमेश्वर मुंडा, जिला कल्याण पदाधिकारी सुश्री मीनाक्षी भगत, जिला शिक्षा अधीक्षक श्रीमती बिना कुमारी, अग्रणी बैंक प्रबंधक  आर०पी०एम०सहाय, जिला कार्यक्रम प्रबंधक जे०एस०एल०पी०एस०  प्रकाश रंजन आदि उपस्थित थे।

No comments