दुष्कर्म मामले की सुलहनामा के एवज में मुखिया पर 1.65 लाख लेने का आरोप, थाने में शिकायत, जांच में जुटी पुलिस


मुखिया जर्जीस अंसारी

सारठ : थाना क्षेत्र के सधरिया पंचायत के मुखिया जर्जिस अंसारी पर एक दुष्कर्म मामले की सुलहनामा कराने के एवज में 1.65 लाख रुपये लेने की लिखित शिकायत नारायणपुर थाना के जसपुर गांव निवासी साबीर अंसारी ने प्रशिक्षु आईपीएस अधिकारी सह थाना प्राभारी कपिल चौधरी से की है। दिए गए आवेदन में उल्लेख है कि बीते 27 अक्टूबर को ग्राम लकड़ाखोन्दा में दुष्कर्म की घटना हुई थी। जिसमे उनके दामाद मो. अजहर अंसारी को फंसाया जा रहा था। सूचना पर ससुर साबिर अंसारी गांव पहुंचे और पंचायत के मुखिया जर्जिस अंसारी से मिले। जिसपर मुखिया ने कहा कि अगर मामले का सुलहनामा कराना है तो अभी तुरंत एक लाख 65 हजार मेरे पास जमा करो, तभी पीड़ित पक्ष को मिलाकर व समझा-बुझाकर मामला सुलह करा देंगे। बात-चीत तय होने पर साबिर अंसारी ने गांव के लोगों व संबंधी के समक्ष मुखिया को एक लाख पन्द्रह हजार नगद और 50 हजार रुपये का सेंट्रल बैंक का चेक दे दिया। पैसा लेने के बाद मुखिया द्वरा सुलहनामा करने के नाम पर कई दिन तक टाल-मटोल किया गया और इस बीच थाने में मामला भी दर्ज हो गया।  जिसके बाद छह नवंबर को गवाहों के साथ सभी मुखिया के घर गए और कहा कि जब मामले का सुलहनामा नहीं हुआ तो फिर पैसा वापस कर दीजिए। लेकिन मुखिया ने पैसा देने से साफ इंकार कर दिया और देख लेने की धमकी भी दी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
इस संबंध में मुखिया जर्जिस अंसारी से पूछने पर बताया कि गांव में पंचायती हुई थी, लेकिन मामले को लेकर पैसे की लेने की बात कहना सरासर गलत और बेबुनियाद है।

No comments