पुराने सदर अस्पताल में सिटी हॉस्पिटल खोलने की मांग



देवघर जिला कांग्रेस के एक शिष्टमंडल अध्यक्ष मुन्नम संजय के नेतृत्व में झारखंड प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता व कांग्रेस अध्यक्ष-सह- मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव तथा मंत्री बादल को मिलकर टावर चौक स्थित पूर्व सदर अस्पताल के पुराने भवन में  सिटी हॉस्पिटल की स्वीकृति को लेकर एक मांग पत्र सौंपा। मांग पत्र के द्वारा आग्रह किया है कि देवघर एक घनी आबादी वाला नगर निगम है। जहाँ जिला का सदर हॉस्पिटल बाबा नगरी के हृदय स्थल टावर चौक के पास अवस्थित था। जो 2016 में रातों-रात शहर से शहर के किनारे नया भवन में शिफ्ट कर दिया गया। जिसका स्थानीय नागरिकों, सामाजिक संगठनों तथा राजनीतिक दलों के लोगों ने पुरजोर विरोध किया। उस समय सर्वदलीय राजनीतिक पार्टी संगठनों एवं नागरिक संगठनों की ओर से आंदोलन चलाया गया। जिसके फलस्वरूप तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्री श्री रामचंद्र चंद्रवंशी ने देवघर आकर उस आंदोलन को समाप्त करने का पहल करते हुए इस भवन में सिटी हॉस्पिटल बनाने की घोषणा की। जो घोषणा अखबार के पन्नों तक सीमित रह गया। ज्ञातव्य हो कि देवघर एक घनी आबादी वाला नगर निगम क्षेत्र है। जहां द्वादश ज्योतिर्लिंग बाबा बैजनाथ का मंदिर स्थित है। यहां सालों भर लाखो श्रद्धालु, तीर्थ यात्री आते हैं और सावन- भादो में मासव्यापी विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला लगता है। शहर एवं शहर के आसपास रिखियापीठ आश्रम, नौलखा आश्रम, विश्व प्रसिद्ध सत्संग आश्रम एवं अनेकों पर्यटन स्थल जैसे त्रिकुट पहाड़, तपोवन पहाड़,नंदन पहाड़ आदि क्षेत्रों में लाखों अनुयाई एवं पर्यटक आते रहते हैं। इन सबों को ध्यान में रखते हुए पूर्व का हॉस्पिटल सबसे ज्यादा सुविधाजनक था। अस्पताल यहां से हटाए जाने के बावजूद भी वर्तमान में झारखंड सरकार के द्वारा नेत्र चिकित्सालय, ब्लड बैंक एवं वर्तमान के कोरोना काल में कोविड-19 केयर सेंटर बनाया गया है। साथ ही भौगोलिक दृष्टिकोण से देवघर में झारखंड के समीपवर्ती जिला गोड्डा, गिरिडीह, दुमका,जामताड़ा के अलावा बिहार राज्य के बांका ,जमुई एवं अन्य जिलों से लोग बेहतर इलाज के लिए यहां आते हैं। जो सड़क मार्ग से भी सुविधाजनक पड़ता है। देवघर झारखंड का सांस्कृतिक राजधानी भी है। यहां अनेक प्रकार के भी.भी.आई.पी. मूवमेंट भी होते रहता है ।अतः इन सारी बातों को ध्यान में रखते हुए शहर के स्थित बड़े क्षेत्र में अवस्थित सारी सुविधाओं से लैस इस विशाल पूर्व सदर अस्पताल भवन में यहां के लोक व सर्व हित में सिटी हॉस्पिटल बनाए जाने की सख्त आवश्यकता है।

 इस मांग पर गंभीरता दिखाते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने सकारात्मक आश्वासन दीया। मांग पत्र की प्रतिलिपि  मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी को भेज दी गई। शिष्टमंडल में देवघर जिला अध्यक्ष मलहम संजय के साथ वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रो. उदय प्रकाश, पूर्व जिलाध्यक्ष राजेंद्र दास,सेवादल के अजयकुमार,मीडिया प्रभारी दिनेश कुमार मंडल, दिनेशानंद झा,अवधेश प्रजापति, नाहिदा सुल्तान,राधा पाल, धर्मेंद्र सिंह, अमित पांडेय आदि थे।

No comments