केंद्र सरकार का झारखंड के साथ इस तरह का सौतेला व्यवहार,संतोष स्वर्णकार



साहिबगंज संवाददाता:-कांग्रेस के जिला कांग्रेस के सोशल मीडिया कोऑर्डिनेटर संतोष स्वर्णकार प्रेस बयान जारी कर कहा कि केंद्र सरकार द्वारा झारखंड का 1418 करोड़ रुपए काटे जाने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है।कि केंद्र सरकार द्वारा झारखंड के साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है।जो झारखंड के जनता के साथ धोखा है। केंद्र सरकार का झारखंड के साथ इस तरह का सौतेला व्यवहार दर्शाता है,कि केंद्र की सरकार आदिवासी दलित विरोधी सरकार है यह केंद्र की सरकार देश के संघीय ढांचे को तोड़ना चाहती है।श्री स्वर्णकार ने कहा कि कश्मीर,तेलंगाना,आंध्र प्रदेश,तमिलनाडु,कर्नाटक पर 60000हजार करोड़ से जायदा का बकाया है।पर झारखंड के सांसदों के मुंह से अभी बोली नहीं खुल रही है।वह चुपचाप झारखंड की बर्बादी एवं दुर्गति होते हुए देख रहे हैं।या यूं कहें कि इस बर्बादी में अपनी भूमिका भी निभाते हैं।यह कटौती केंद्र की बीजेपी सरकार की सोची समझी साजिश है केंद्र सरकार साजिश के तहत झारखंड के वित्तीय ढांचे को अस्थिर कर झारखंड सरकार को बदनाम करने की साजिश कर रही है।एवं पड़ोसी राज्य बिहार के जनता को भी इसी बहाने डराने के भी प्रयास कर रही है, कि वहां के जनता अगर भाजपा को वोट नहीं देती है,तो बिहार के जनता के साथ में भी इसी तरह का आर्थिक कटौती एवं तरह तरह का राज्य के ऊपर करवाई किया जाएगा यह सन्देश देना चाह रही है।इस विपदा के घड़ी में केंद्र सरकार के द्वारा आर्थिक कटौती झारखंड की जनता कभी बर्दाश्त नहीं करेगी।कोरोना कॉल के समय में जब केंद्र सरकार को राज्य सरकार को आर्थिक मदद करनी चाहिए ऐसे समय में केंद्र सरकार यहां पर आर्थिक कटौती कर रही है।जो किसी भी सूरत में जायज नहीं है।झारखंड की जनता ने बीजेपी को भरपूर जनादेश दिया है लोकसभा चुनाव में लेकिन जनता भी अपनी आंखों से देखें कि यह बीजेपी की सरकार झारखंड के गरीब पिछड़े दलित आदिवासी जनता के लिए क्या कर रही है।राज्य में गठबंधन की सरकार खनिज संपदा आदि का बचाव कर रही है जिसे केंद्र सरकार बर्दाश्त नहीं कर पा रही है।जिसका खामियाजा और सजा बोझ के रुप में झारखंड के जनता के ऊपर केंद्र की बीजेपी सरकार दे रहे हैं।

No comments