बाबा बैद्यनाथ के दर्शन हेतु ऑनलाइन माध्यम की सुविधा रहेगा उपलब्ध:-उपायुक्त



देवघर राज्य सरकार द्वारा धार्मिक स्थलों को खोलने को लेकर जारी दिशा-निर्देश के अलोक में उपायुक्त-सह-जिला दण्डाधिकारी कमलेश्वर प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक का आयोजन समाहरणालय कक्ष में किया गया। इस दौरान उपायुक्त द्वारा जानकारी दी गयी कि अनलाॅक-05 से संबंधित दिशा-निर्देश राज्य सरकार द्वारा जारी किया गया है, जिसके तहत कन्टेनमेन्ट जोन के बाहर सभी धार्मिक स्थल खोले जायेंगे। वर्तमान में राज्य सरकार के जारी दिशा-निर्देश के आलोक में सबसे महत्वपूर्ण है कि मंदिर में एक साथ 50 लोगों को जाने अनुमति दी जायेगी। साथ हीं सामाजिक दूरी का अनुपालन करते हुए कम से कम छः फीट की दूरी श्रद्धालुओं के बीच अनिवार्य रूप से रहेंगी। इसके अलावे उपायुक्त  कमलेश्वर प्रसाद सिंह ने बाबा मंदिर प्रभारी-सह-अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को निदेशित किया कि बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं के साथ-साथ तीर्थ पुरोहित समाज की सुविधा व स्वास्थ्य सुरक्षा के अलावा स्वास्थ्य संबंधी अन्य मानकों का अनुपालन सुनिश्चित करते हुए मंदिर टाईम स्लाॅट के माध्यम से श्रद्धालुओं को बाबा बैद्यनाथ के दर्शन की व्यवस्था करें। साथ हीं मंदिर परिसर व आस-पास सुरक्षा-व्यवस्था व विधि-व्यवस्था को सुदृढ़ करने के उद्देश्य से दण्डाधिकारियों व पुलिस बल के जवानों को प्रतिनियुक्त करने का निर्देश दिया गया। इसके अलावे मंदिर प्रांगण के साफ-सफाई करने की आवृति को भी बढ़ाते हुए मंदिर के सफाई कर्मियों को मास्क पहनकर साफ-सफाई करने एवं इस दौरान विशेष सतर्कता बरतने की बात उपायुक्त ने कही। बैठक के दौरान उपायुक्त ने मंदिर में आने-वाले श्रद्धालुओं, पुजारियों, बेलपत्र-फूल विक्रेताओं एवं आस-पास के दुकानदारों व अन्य लोगों से अपील की गयी है कि वे साफ-सफाई पर विशेष दें, ताकि मंदिर व इस प्रकार के अन्य सामुदायिक स्थलों में होने वाले भीड़ के वजह से कोरोना वायरस का खतरा न रहे एवं इससे लोगों का बचाव हो सके। साथ हीं उन्होंने बाबा मंदिर आने वाले स्थानीय श्रद्धालुओं से भी अपील करते हुए कहा है कि साफ-सफाई में आप सभी का सहयोग आपेक्षित है।

 आवश्यक गाइडलाइन..

●भक्तों के बीच दो गज की दूरी के साथ ही प्रवेश मिलेगा।

●सभी भक्तों, पुजारियों को मास्क या फेस कवर लगाना अनिवार्य होगा।

●मंदिर के आस-पास दुकानों में भी गाइडलाइन का पालन जरूरी, वर्ना हो सकती है कार्रवाई।

●सेनेटाइजर और साफ-सफाई की व्यवस्था महत्वपूर्ण।

बैठक में उपरोक्त के अलावे पुलिस अधीक्षक  अश्विनी कुमार सिन्हा, मंदिर प्रभारी-सह-अनुमंडल पदाधिकारी  दिनेश कुमार यादव, प्रशिक्षु आई0ए0एस0  संदीप मीणा, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी  विकास चन्द्र श्रीवास्तव, पुलिस उपाधीक्षक  मंगल सिंह जामुदा, पंडा धर्मरक्षिणी सभा के अध्यक्ष  सुरेश भारद्वाज पंडा धर्मरक्षिणी के महामंत्री  कार्तिक नाथ ठाकुर, सरदार पंडा के प्रतिनिधि के रूप में बाबा झा, मंदिर समिति के सदस्य  बिन्देश्वरी झा, सहायक जनसम्पर्क पदाधिकारी रोहित कुमार विद्यार्थी, तीर्थ पुरोहित समाज के प्रतिनिधि आदि उपस्थित थे।

No comments