अरुण साह हत्याकांड का एक और आरोपी गिरफ्तार कथित रूप से पूजा ने ही अरुण को बुलाया था



साहिबगंज संवाददाता:--बोरियो थाना क्षेत्र के सबसे चर्चित हत्याकांड अरुण साह हत्याकांड .अनाज व्यापारी अरुण साह की हत्या में शामिल गोबरी निवासी पूनी उर्फ पूजा बेसरा को पुलिस ने तेलो पंचायत के बरमसिया से गिरफ्तार कर लिया है। इसकी जानकारी गुरुवार को पुलिस लाइन स्थित सभागार में पुलिस अधीक्षक अनुरंजन किस्पोट्टा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दी.साथ ही प्रेस को संबंधित करते हुए बताए कि बोरियो मोती पहाडी निवासी वादिनी पुतुल देवी पति स्वर्गीय अरुण साह ने 21 जून एक लिखित आवेदन देकर सूचित किया गया कि उनके पति अरुण साह 20 जून को सुरेंद्र पहाड़िया के साथ गए थे। जो अब तक घर वापस नहीं आए हैं एवं अपराधियों के द्वारा फिरौती की रकम की मांग की जा रही है। इस संदर्भ में बोरियो थाना कांड संख्या 186/ 2020 11 जून को धारा 364 भादवि के तहत कांड दर्ज कर अनुसंधान प्रारंभ किया गया। इस क्रम में घटना में शामिल अपराधियों को चिन्हित कर अरुण साह की बरामदगी का प्रयास किया गया। जिसमें से अब तक अभियुक्त किशुन मुर्मू, पिता बड़का मुर्मू, प्रमिला हेम्ब्रम पति किशुन हेंब्रम, विनोद हांसदा, पिता सुंदर हांसदा, होपना हेम्ब्रम पिता रातिम हेम्ब्रम, लखीराम सोरेन पिता चेन सोरेन को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। तथा इस कांड के अभियुक्त सामु हांसदा उर्फ सामुएल हांसदा पिता लखीराम हांसदा, श्री चांद मुर्मू, पिता बबलू मुर्मू, रामदास सोरेन पिता धन सोरेन तथा अभियुक्त एडविन तुरी पिता सनातन तुरी की भी गिरफ्तारी रांगा, बरहेट एवं मिर्जाचौकी थाना कांडों में हो चुकी है। इसी कड़ी में इस कांड के वांछित फरार अभियुक्त पुनी उर्फ पूजा बेसरा उम्र करीब 25 वर्ष पिता स्वर्गीय लखीराम बेसरा ग्राम गोबरी थाना बोरियो जिला साहिबगंज को 1 अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया हैं। साथ ही अभियुक्त पूजा बेसरा ने अरुण साह के अपहरण में अपनी संलिप्तता स्वीकार करते हुए बताया है कि अरुण साह के अपहरण में नेशनल संथाल लिबरेशन आर्मी के अपराधियों का हाथ है। क्योंकि अरुण साह दिल्ली में प्लेसमेंट एजेंसी चलाता था एवं यह भी उसके साथ दिल्ली में रही। उसके दिल्ली से आने के बाद सामुएल व एडविन सोरेन के साथ षड्यंत्र कर फिरौती के उद्देश्य से अरुण साह को उन अपराधियों के पास सुपुर्द करने में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इस कांड के शेष अपराधियों की गिरफ्तारी हेतु छापामारी अभियान जारी है। और जल्द ही वे लोग पुलिस की गिरफ्त में होंगे। छापामारी में बोरियो थाना प्रभारी लव कुमार सिंह, सअनि जीतेन तिग्गा,महिला चौकीदार मोसेमात रबनी, धर्मी पहाड़िन व  बोरियो थाना के रिजर्व गार्ड शामिल थे।


फिरौती के लिए अरुण साह का अपहरण कर हत्या किया गया था;


मालूम हो कि 20 जून, 2020 को अनाज व्यपारी अरुण साह का अपहरण खुट्टा पहाड़ से नेशनल संताल आर्मी द्वारा कर लिया गया था। अपहर्ता द्वारा 30 लाख की फिरौती मांगी जा रही थी। 27 जून की सुबह बरहेट के लबरी गांव के पास लोकेशन के आधार पर पहुंची तो बोड़बाध हटिया के समीप अपराधियों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी जिसमें एक पुलिसकर्मी घायल हो गया बाद में उनकी मौत हो गयी। इससे पूर्व अपराधियों ने अरुण साह की भी गोली मारकर हत्या कर दी थी।

No comments