रघुवर का बयान जनता को गुमराह करने वाली :-मुन्नम संजय



देवघर: झारखंड सरकार के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास जी द्वारा आज मीडिया के माध्यम से झारखंड सरकार पर जो आरोप लगाया गया, वह बेबुनियाद और मनगढ़ंत है। उक्त बातें देवघर जिला अध्यक्ष मुन्नम संजय ने बताया। आगे श्री संजय ने कहा कि वर्तमान झारखंड सरकार पर लूट का आरोप लगाने वाले रघुवर दास जी आपके द्वारा झारखंड के लोगों के पांच सौ करोड़ रुपैया को झारखंड मोमेंटम के नाम पर हाथी उड़ाने का काम किया। जिसकी आज जांच चल रही है। आप जाते-जाते झारखंड की तिजोरी को खाली कर गए। दारू की एक्साइज ड्यूटी माफ करने के बात पर हम कहना चाहेंगे कि आपके द्वारा झारखंड के हजारों विद्यालय को बंद कर दिया गया और दारू का दुकान खोला गया जहां सरकारी कर्मियों को भी आपने दारु बेचवाने का काम किया।इसके पीछे कौन सा राज छिपा था। आपके द्वारा उल्टा चोर कोतवाल को डांटे की कहावत को चरितार्थ करने का प्रयास किया जा रहा है जो झारखंड की जनता अच्छी तरह से जान चुकी है। जहां भारतीय जनता पार्टी के सरकार के द्वारा कोरोना भगाने के लिए ताली और थाली बजवाया जाता है ,दिए जलवाकर अंधविश्वास में लोगों को धकेलने का काम किया जाता है। वहीं झारखंड की हेमंत सरकार कोरोना की हर जंग को बड़ी ही सुदृढ़ ढंग से लड़ने का काम कर रही है। दूसरे राज्यों में फंसे श्रमिकों को हवाई जहाज,ट्रेनों और बसों से घर तक लाया गया। उन्हें दवाई और खाद्यान्न दिया गया। मनरेगा के माध्यम से रोजगार  दिया गया। कोरोना का प्रसार हिंद पीढ़ी बताने वाले यह भी जानकारी दें कि  बिहार के सुशासन बाबू  के राज भाजपा कार्यालय पटना में एक साथ भाजपा के कई नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को कोरोना पोजेटिव पाया गया। वह किस हिंदपीढ़ी या शाहीन बाग का  हिस्सा था। माननीय के सरकार में जेएसएलपीएस के माध्यम से अपने निजी हित में झारखंड की सीधी-साधी और भोली-भाली महिलाओं को मोहरा बनाकर महिला ग्रुप के नाम पर जो राशि लूटी गई है,उसका भी हिसाब देना चाहिए। लीज खदान कि बात करने वाले को यह पता नहीं है कि उनकी गलत नीतियों के कारण ही आज झारखंड की जनता अपने ही क्षेत्रों में बालू के लिए मरहूम हो रहे हैं। गरीब अपना घर बनाने के लिए बालू ब्लैक में खरीद रहे हैं। रघुवर के सरकार में नक्सली लूट तंत्र में हिस्सा बनकर सरकारी राशि लूटने में लगे थे। नक्सलियों को पाला पोसा जा रहा था। परंतु हेमंत सरकार के द्वारा उनको बखूबी निपटने का कार्य किया जा रहा है। जेपीएससी की एक भी परीक्षा सफलतापूर्वक संपन्न नहीं कराने वाली आपकी सरकार ने झारखंड में बेरोजगारों को रोजगार से मरहूम रखा,  बहालिया नहीं हुई। अगर कुछ बहालिया हुई तो उसमें अधिकतर लाभार्थी दूसरे राज्य के हैं। इनके द्वारा कॉन्ट्रैक्ट बेसिस पर की गई बहालिया चाहे वह सहायक पुलिस हो एवं अन्य, सबको छलने का काम किया गया। इन्हीं सभी कारणों से झारखंड की जनता ने आपको एवं आपकी सरकार को नकारने का काम किया। जनता के फैसले को मानकर अपनी गलतियों पर चुप्पी साधे रहने में ही अच्छा होगा। उक्त आशय की जानकारी प्रेस विज्ञप्ति जारी कर दीया

No comments