त्यौहारों का हमारे जीवन में बड़ा ही महत्व है, ऐसे में कोरोनाकाल में सतर्क व सुरक्षित रूप से मनायें त्यौहारः- उपायुक्त



उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी कमलेश्वर प्रसाद सिंह ने जिलावासियों एवं पूजा समितियों के सदस्यों से अपील करते हुए कहा है कि वर्तमान में त्यौहारों के आयोजन को देखते हुए कोविड नियमों के तहत सरकार द्वारा ढील दी गयी है, लेकिन इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि हम अपनी जवाबदेही व जिम्मेवारी को भूल जाएं। कोविड संक्रमण के खतरों को देखते हुए हम सभी को त्यौहार मनाते समय खासी सावधानी और सतर्कता बरतने की जरूरत है।  इसके अलावे उपायुक्त ने कहा कि त्यौहारों के चलते लोगों का बाजार में आवगमन अधिक बढ़ेगा, जिसके कारण कोरोना संक्रमण के फैलाव की आशंका भी रहेगी। ऐसे में अपने के साथ-साथ दूसरों का बचाव करते हुए संक्रमण के फैलाव को रोकने में जिला प्रशासन की सहायता करें। बाजार या सार्वजनिक जगह पर होने पर मूंह पर मॉस्क जरूर लगाकर रखें। जितना संभव हो सके भीड़-भाड़ से दूर रहें। एक-दूसरे से उचित दूरी बनाकर रखें। उन्होंने कहा कि यदि ईमानदारी से सभी मॉस्क व एक-दूसरे से दूरी के नियमों पालना करेंगे तो अवश्य ही संक्रमण नहीं फैलेगा और सभी का बचाव भी इसी में निहित है। उपायुक्त ने कहा कि त्यौहारों का हमारे जीवन में बड़ा ही महत्व है। लेकिन कोरोनाकाल के बीच इन त्यौहारों को हमें कुछ सावधानियां व नियमों की पालना करते हुए मनाना है। त्यौहारों के अवसर पर लोग बाजारों में खरीददारी अधिक करते हैं, जिससे भीड़ बढना स्वाभाविक होता है। सामान खरीदते समय या कहीं पर भी सार्वजनिक स्थान पर खड़े हों, तो एक दूसरे से कम से कम दो गज की दूरी पर रहें। वर्तमान में सबसे महत्वपूर्ण है कि जब तक इस बीमारी की दवाई नहीं आती है, तब तक मॉस्क इससे बचाव का अचूक उपाय है। इसलिए मॉस्क को तो अपनी दिनचर्या का हिस्सा बना लें। मॉस्क लगाकर हम इस बीमारी से काफी हद तक बच सकते हैं। साथ हीं स्वच्छता पर विशेष ध्यान रखते हुए अपने हाथो को थोड़े समय के अंतराल पर साबुन या हैंडवॉश से अवश्य धोएं। कोरोना काल में तंबाकू, गुटखा व धूम्रपान का उपयोग न करते हुए सार्वजनिक स्थानों पर यत्र-तत्र न थूकें और दूसरों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करें।

No comments