तेजस्विनी परियोजना के अंतर्गत महिला एवं किशोरियों को जीवन कौशल का प्रशिक्षण दिया जा रहा है



कुंडहित (जामताड़ा): झारखण्ड  सरकार महिला बाल विकास सामाजिक सुरक्षा विभाग द्वारा संचालित तेजस्विनी परियोजना के अंतर्गत  नगरी क्लस्टर के तेजस्विनी  क्लब नगरी में  जीवन कौशल प्रशिक्षण  मॉडल 1  किशोरियों को दिया  जा रहा है   ।  वही रविवार को प्रशिक्षण का चौथा दिन था। यह  जीबन कौशल प्रशिक्षण सात  दिवसीय  है ।रविवार को   जिसमें से किशोरी एवं महिला को अपने जीवन में विषम परिस्थितियों का सामना करने का समाधान बताया गया।    विभिन्न प्रकार के उदाहरण रोल प्ले के माध्यम से बताया गया की जीवन में आप कैसी भी परिस्थिति में रहे सपना जरूर देखना चाहिए। सपना आर्थिक व सामाजिक दृष्टि से नहीं बल्कि अपनी इच्छा के अनुसार दिखना चाहिए तथा उन सपनों को साकार करने के लिए दिन रात मेहनत करना चाहिए। क्लस्टर कॉडिनेटर भवानी दे ने बताया कि महिलाओं को विभिन्न   परिस्थितियों में छोटी उम्र में विवाह, कम उम्र में गर्भधारण, जल जल्दी करवा धारण, कुपोषित शिशु ,घरेलू हिंसा, व्यक्तिगत सुरक्षा का अभाव, आदि का सामना करना पड़ता है ।   मौके पर  क्लस्टर कॉडिनेटर भवानी दे के अलावे  युवती एवं किशोरिया   तेजस्विनी क्लब नगरी के पियर लीडर सोनाली सहा युवा यूथ उत्प्रेरक जयंत सेन तथा आदि उपस्थित थे।

No comments