दुर्गा पूजा के दौरान विधि-व्यवस्था संधारण हेतु दंडाधिकारियों/ पुलिस पदाधिकारियों की हुई प्रतिनियुक्ति



साहिबगंज संवाददाता:--उपायुक्त राम निवास  यादव एवं पुलिस अधीक्षक अनुरंजन किस्पोट्टा ने दुर्गा पूजा के मद्देनजर शांति व्यवस्था बनाये रखने हेतु दंडाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति कर दी है। 17 अक्टूबर से 26 अक्टूबर तक मनाया जाएगा जिसमें 17 अक्टूबर को कलश स्थापना से  प्रारंभ होकर दिनांक 23 अक्टूबर को महाष्टमी पूजा एवं दर्शन प्रारंभ हो जाएगा।तथा 25 अक्टूबर को महानवमी एवं दिनांक 26 अक्टूबर.10 को विजय दशमी मनाया जाएगा।  साथ ही उसी दिन संध्या में प्रतिमा विसर्जन भी की जाएगी।जिले में  विभिन्न क्षेत्रों में प्रतिमा विसर्जन 2 दिनों तक किये जाने की परंपरा रही है लेकिन इस वर्ष कोविड के कारण 26 अक्टूबर को एक दिन ही विसर्जन कार्यक्रम रखा गया है। साथ ही कोविड के कारण सरकार के द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार ही त्योहार मनाया जाएगा। सरकारी गाइडलाइन बनाये रखने के लिये दंडाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की गई है।साथ ही इस अवसर पर विशेष सतर्कता व निगरानी बरतने की आवश्यकता है तथा विधि-व्यवस्था बनाये रखने की ज़रूरत है इसी संदर्भ में संबंधित क्षेत्रों में वरीय पदाधिकारी, दंडाधिकारी,एवं पुलिस पदाधिकारियों को प्रतिनियुक्त कर दिया गया है। इसी संबंध में उन्होंने सभी थाना प्रभारी को निर्देश दिया है कि वह अपने अपने क्षेत्र के अंतर्गत प्रतिदिन विविध स्त्रोतों से सूचना संग्रह करेंगे एवं महत्वपूर्ण सूचना को अपने सभी वरीय पदाधिकारियों को तुरंत देना सुनिश्चित करेंगे ताकि समय रहते किसी भी मामले का शांतिपूर्ण तथा प्रभावी तरीके से हल निकाला जा सके। इसके अतिरिक्त विधि-व्यवस्था से जुड़े छोटी मोटी घटनाओं को भी काफी संवेदना एवं गंभीरता से लेंगे।उपायुक्त ने बताया कि दशहरा पर्व के अवसर पर बल पूर्वक चंदा वसूली करने वालों पर भी निगरानी रखे और विधिसम्मत कार्रवाई करे। इसके लिए संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी एवं पुलिस उपाधीक्षक अपने-अपने क्षेत्र अंतर्गत आवश्यक कार्रवाई करेंगे। उपायुक्त ने कहा कि दुर्गा पूजा के दौरान कोरोना सम्बधी गाइडलाइन के अनुपालन की जवाबदेही संबंधित पदाधिकारी तथा प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी की होगी। पदाधिकारी इसका अनुपालन सुनिश्चित करेंगे।उपायुक्त ने बताया कि दुर्गा पूजा के दौरान विधि व्यवस्था बनाए रखने के लिए संबंधित क्षेत्र के अनुमंडल पदाधिकारियों को वरीय प्रभारी तथा 191 दंडाधिकारी एवं 162 पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गयी है।

No comments