केंद्र की मोदी सरकार किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य ( एमएसपी) देने मे नाकाम- इकबाल



उधवा संवाददाता:-- किसानों की दुर्दशा, खराब कानून व्यवस्था, महिला सुरक्षा, युवाओं एवं छात्रों से जुड़े मुद्दे तथा मंदी की चपेट में घिर रही अर्थव्यवस्था और भयंकर बेरोजगारी, महंगाई के मुद्दे को लेकर तथा पुरजोर तरीके से किसानों के मुद्दों को लेकर रविवार को सीपीआईएम उधवा लोकल कमिटी की जीबी बैठक राजकीय मध्य विद्यालय उत्तरी बेगमगंज में संपन्न हुआ। बैठक में मुख्य रूप से किसान संशोधन बिल पर चर्चा की गई। सीपीआईएम के राज्य सचिव मंडल सदस्य मोहम्मद इकबाल ने बैठक को सम्बोधित करते हुए केंद्र के नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए सरकार पर हमला किया। उन्होंने कहा कि सरकार के द्वारा पास कराये गए बिल पूरी तरह से किसान एवं मजदूर विरोधी है। किसान विरोधी तीन बिल में से आवश्यक वस्तु अधिनियम बिल संशोधन करने से देश में जमाखोरों की संख्या बढ़ेगी। जिससे देश में खाद्यान्न की कृत्रिम रूप से अनाज की कमी हो जाएगा और कमरतोड़ मंहगाई बढ़ेगा। वहीं इस बिल से किसानों की खेती पर प्रतिकुल असर पड़ेगा। देश में किसानों की जमीन को ठेका एवं कारपोरेट खेती को मोदी सरकार बढ़ावा दे रही है। जिसका असर देश के करोड़ों छोटे एवं मझौले किसानों का रोजगार छीन जाएगा। केंद्र की मोदी सरकार किसानों को न्युनतम समर्थन मूल्य देने में नाकाम साबित हुए है। इकबाल ने किसानों, मजदूरों, युवाओं को एकताबद्ध होकर मोदी सरकार के खिलाफ जन आन्दोलन तेज करने की अपील की। साथ ही उधवा प्रखंड में पार्टी एवं जनसंगठनों को नये सिरे से मजबूत करने पर बल दिया। बैठक की अध्यक्षता शाखा सचिव मिठुन मंडल ने किया। मौके पर सीपीआई एम जिला कमिटी के सचिव प्रोफेसर असगर आलम, उत्तम  मंडल, सुशांतो वाला विश्वजीत मंडल, सोजाऊल हक, तपेश कर्मकार, सोतुल मंड,ल नयन मंडल ,श्रवण मंडल, जयदेव मंडल, संदीप घोष, असीम कर्मकार सहित दर्जनों कार्यकर्ता उपस्थित थे।

No comments