किसानों के लिए वरदान साबित हुआ रेल परियोजना



गोड्डा, संवादाता  गोड्डा पोड़ैयाहाट रेल परियोजना के कार्य से जल संरक्षण को लेकर कृषि  कार्य तक मे किसानो को दोहरा लाभ मिल रहा हैं, यहाँ जल संरक्षण को लेकर सरकार का एक पैसा खर्च नहीं हो रहा है, बाबजूद इसके कई बड़े-बड़े तालाब औऱ सीवेज ट्रैक बनते जा रहे हैं, जिसके लाभ सीधे किसानो की मिल रहा है, आनेवाला समय मे इन क्षेत्रों के जलस्तर में भी सुधार होने के संकेत हैं, हंसडीहा से पोड़ैयाहाट औऱ फीफा पोड़ैयाहाट से  गोड्डा के बीच  तकरीबन 32 किलोमीटर रेल लाइट का निर्माण कार्य होने की स्थिति में है। इस रेल लाइट के निर्माण को लेकर काफी मिट्टी मि जरूरत पड़ रही हैं।  आसपास के  सरकारी जमीन या फिर किसी निजी व्यक्ति के जमीन की खुदाई कर  उसे पोखरनुमा और गडढानुमा बनाकर अपनी जरूरत को पुरा कर रहे हैं। इसी दौरान कई पोखर और सीवेज ट्रैक बन चुके हैं। रेल लाइट के किनारे स्थित

दीपना, सकरी ,अमवार  शकरीफुलवरिया , हरियाली नौडीहा, सहित दर्जनों गांव के आसपास इस खुदाई से तकरीबन 70 छोटे बड़े तालाब बन चुके हैं ।इसमें अभी  पानी का जमाव काफी अच्छा है और उस पानी के आसपास के क्षेत्र के किसान लाभान्वित भी हो रहे हैं । नौडीहा गांव के किसान सुमन पंडित ,श्याम जयसवाल ,हरियारी के सुनील टूडू भूदेव कुमार साह ,शिव शंकर मंडल सकरी के विनोद कुमार आदि ने बताया कि रेल परियोजना के लिए मिट्टी उठाने के बाद जो गड्ढा हुआ वह काफी उपयोगी साबित हो रहा है ।यह छोटे बड़े तालाब का आकार में निर्मित हो गया।इससे खरीफ और रबी दोनों फसल में लाभ मिल रहा है ,साथ ही जल स्तर में भी वृद्धि हुआ है। आसपास के क्षेत्र में किसान खेती करने में उसी जमा हुआ  जल का उपयोग कर रहे हैं। कई किसानों ने तो जमीन का समतलीकरण कराकर अब उसमें खेती भी कर रहे हैं पानी जमा होने के किसानों को सिंचाई में लाभ मिल रहा है।पोखर में जल जमाव अधिक होने से मतस्य पालन भी हो रहा है।

दर्जनों के आसपास छोटे खुदाई के छोटे बड़े तालाब बन चुके

 32 किलोमीटर रेल लाइन का निर्माण कार्य पूरा होने का स्थिति में खंडवा रेल लाइन गोड्डा रेलखंड

No comments