फेडरेशन ऑफ बैंक ऑफ इंडिया एम्पलाईज यूनियन ऑफ स्टॉफ का एक दिवसीय राष्ट्रव्यापी हड़ताल 5 अक्टूबर को किया गया



मधुपुर बैंक ऑफ इंडिया के समक्ष सोमवार को बैंक के कर्मचारियों ने बैंक निजीकरण के विरोध में धरना प्रदर्शन करते हुए एकदिवसीय हड़ताल किया। मौके पर बैंक कर्मचारियों ने कहा कि मोदी सरकार का यह फैसला जनविरोधी है कहा कि बैंक का निजीकरण, प्रबंधक की श्रमिक विरोधी मानसिकता, द्विपक्षीय समझौतों का उल्लंघन के विरोध में फेडरेशन ऑफ बैंक ऑफ इंडिया स्टाफ यूनियनस के आह्वान पर बैंक ऑफ इंडिया का राष्ट्रव्यापी हड़ताल है ।कहा सरकार सभी संवर्ग में समुचित बहाली,वित्तीय सुविधा में वाजिब हिस्सेदारी व चिकित्सा व्यय की प्रतिपूर्ति का सरलीकरण करने की मांग है।अगर बैंक के निजीकरण पर रोक नहीं लगाया गया तो कर्मचारी सड़कों पर आ जाएंगे इस दौरान कर्मचारियों ने सरकार विरोधी नारेबाजी भी की और बील को वापस लेने की मांग किया!

No comments