ए एस महाविद्यालय के कला संकाय में राष्ट्रीय सेवा योजना के बैनर तले महाविद्यालय परिवार के सदस्यों ने कोविड-19 को हराने की प्रतिज्ञा ली



देवघर गुरुवार  को ए एस महाविद्यालय के कला संकाय में राष्ट्रीय सेवा योजना के बैनर तले महाविद्यालय  परिवार के सदस्यों ने कोविड-19 को हराने की प्रतिज्ञा ली, जिसके अंतर्गत कोविड-19 से बचाव हेतु सदा मास्क पहनने ,साबुन से बार बार हाथ धोने एवं 2 गज की दूरी बनाए रखने का संकल्प लिया गया ।साथ ही उपस्थित छात्र-छात्राओं एवं शिक्षक एवं शिक्षकेतर कर्मचारियों ने संकल्प लिया कि स्वयं भी आवश्यक नियमों का पालन करेंगे और अपने आस पड़ोस को भी इन सभी नियमों का पालन करवाते  हुए  कोविड-19 महामारी को अवश्य  मात देंगे मौके पर ,प्राचार्य डॉ अनिल कुमार झा ने कहा कि कोरोना महामारी के इस संकट काल में एनएसएस सदा से जागरूक रहा है और इसके स्वयंसेवक आगे बढ़कर समाज को भी जागरूक करते रहे हैं ।आज भी कोविड-19 खत्म नहीं हुई है लेकिन लोग जागरूक होते हुए भी थोड़े उदासीन हो गए हैं अतः इस तरह के कार्यक्रम निश्चित रूप से प्रभावी रहेंगे। कार्यक्रम पदाधिकारी श्रीमती भारती प्रसाद ने बताया  कि राष्ट्रीय युवा एवं खेल मंत्रालय के आह्वान पर यह कार्यक्रम प्रत्येक महाविद्यालयों एवं शिक्षण संस्थाओं में चलाए जा रहे हैं । कारण, सामुदायिक संक्रमण के इस दौर में कोविड-19 की न थमने वाली गति के बावजूद लोगों में उचित सावधानी के प्रति उदासीनता ही है क्योंकि कोरोना से डरना नहीं  कोरोना से लड़ना है।राष्ट्रपति अवॉर्डी राजेंद्र कुमार साव ने कहा कि वर्तमान में कोविड-19 के प्रति सामाजिक उदासीन दिखाई दे रही है बाजार  जैसे सार्वजनिक स्थल पर लोग आपको यूं ही बिना मास्क के भीड़ लगाए आसानी से देखे जा सकते हैं ,जबकि इसकी चपेट मेंआने वालों की संख्या की दर में पहले से कोई विशेष कमी नहीं हुई है बल्कि आज के इस सामुदायिक संक्रमण के दौर में अपने आस-पड़ोस में भी कई कोविड-19 के एप्टिव केस मिल रहे हैं अतः अभी सतर्कता की अधिक आवश्यकता है। मौके पर शिक्षकेतर कर्मी  उमेश  कुमार चिरंजीव झा राष्ट्रपति अवॉर्डी राजेंद्र कुमार साव एवं खुशी कुमारी , ऋषिका कुमारी, प्रीति सिंह ,आदित्य कुमार, हर्ष राज , प्रगति राज,कृष्णा सिंह राजपूत ,अतुल सिंह, युवराज कुमार ,पंकज कुमार, चांदनी कुमारी, साक्षी कुमारी,अंनु कुमारी,अंजलि केशरी,अनामिका कुमारी,स्नेहा कुमारी,  सृष्टि शर्मा ,अविनाश कुमार आदि भारी संख्या में लोग उपस्थित थे

No comments