13 साइबर अपराधी गिरफ्तार



देवघर। एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा को मिली गुप्त सूचना के आधार पर दो पुलिस टीम का गठन कर गुरुवार को पुलिस ने जामताड़ा जिले के करमाटांड़ व देवघर जिले के चितरा व सारवां थाना क्षेत्र में अलग-अलग छापेमारी कर 13 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। गिरफ्तार अपराधियों के पास से साइबर थाना पुलिस ने 37 मोबाइल फोन, 58 सिम कार्ड, 8 पास बुक, 14 एटीएम, 2 चेक बुक व एक बाइक बरामद किया है। गिरफ्तार अपराधियों में करमाटांड़ थाना क्षेत्र के शांतिपुर गांव से संदीप कुमार मंडल 19, देवघर जिले के चितरा थाना क्षेत्र के आसानबनी गांव से सजन बाउरी , कालेश्वर बाउरी , सूरज बाउरी , प्रदुम कुमार मंडल , कुंदन भंडारी , संजय मंडल , शिवनारायण मंडल , तारू मंडल  के अलावा सारवां थाना क्षेत्र के चरघरा गांव से चंदन कुमार दास , ललन कुमार दास , मंटू दास व नूनदेव दास  शामिल है। गिरफ्तार सभी 13 आरोपियों को शुक्रवार को कोर्ट में प्रस्तुत करने के बाद कोर्ट के आदेश पर जेल भेज दिया गया है। इस बाबत जानकारी देते हुए एसपी ने बताया कि टीम वन का नेतृत्व डीएसपी साइबर मंगल सिंह जामुदा व पुनि संगीता कुमारी, टीम टू का नेतृत्व सारठ डीएसपी आमोद नारायण सिंह व साइबर थाना प्रभारी कलीम अंसारी कर रहे थे। दोनों टीमों के द्वारा चितरा के आसनबनी 9 व सारवां के चरघरा गांव से चार साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया है। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार किए गए साइबर अपराधी फर्जी मोबाइल नंबर से फर्जी बैंक अधिकारी बनकर लोगों को एटीएम बंद होने व चालू कराने के लिए बताया जाता है और लोगों के मोबाइल फोन पर ओटीपी भेजे जाने की बात कह उसे बताने को कहता था। इसके अलावा लोगों को केवाईसी अद्यतन कराने पर आम लोगों से ओटीपी नंबर व आधार कार्ड नंबर पूछ लेते हैं। इसके बाद उनके आधार लिंक खाता से पैसा की ठगी कर लेते हैं। इसके अलावा पे फोन, पेटीएम के माध्यम से मनी रिक्वेस्ट भेज कर उनसे ओटीपी प्राप्त कर रुपए की ठगी कर लिया करते हैं। साथ ही गूगल पर विभिन्न प्रकार की वायलेट व बैंक के फर्जी कस्टमर केयर नंबर का विज्ञापन देकर लोगों सहायता के नाम से ठगी करते हैं।

No comments