11 साइबर अपराधी गिरफ्तार



देवघर। एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा को मिली गुप्त सूचना के आधार पर दो पुलिस टीम का गठन कर रविवार व सोमवार की रात जिले के सोनारायठाढी थाना क्षेत्र के दामाकुंडा, जरिया व जमुआ गांव में छापेमारी कर 11  साइबर अपराधियों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। गिरफ्तार अपराधियों के पास से साइबर थाना पुलिस ने 31 मोबाइल फोन, 49 सिम कार्ड, 4 पास बुक, 11 एटीएम, 3 बाइक बरामद किया है। गिरफ्तार अपराधियों में दामाकुंडा गांव के  विकास कुमार  सौदागर राणा , विशाल राणा ,  गोवर्धन यादव ,  सुमित कुमार राणा , जमुआ गांव के इरफान अंसारी , अनवर अंसारी , जरिया गांव के श्रीराम यादव , बबलू मंडल , सरजू यादव  तथा रोहित यादव  शामिल है। इस बाबत जानकारी देते हुए एसपी ने बताया कि टीम वन का नेतृत्व डीएसपी साइबर मंगल सिंह जामुदा व पुनि संगीता कुमारी, टीम टू का नेतृत्व साइबर थाना प्रभारी कलीम अंसारी व नगर थाना प्रभारी दयानंद आजाद कर रहे थे। दोनों टीमों के द्वारा अलग अलग छापेमारी कर साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया गया। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार किए गए साइबर अपराधी फर्जी मोबाइल नंबर से फर्जी बैंक अधिकारी बनकर लोगों को एटीएम बंद होने व चालू कराने के लिए बताया जाता है और लोगों के मोबाइल फोन पर ओटीपी भेजे जाने की बात कह उसे बताने को कहता था। इसके अलावा लोगों को केवाईसी अद्यतन कराने पर आम लोगों से ओटीपी नंबर व आधार कार्ड नंबर पूछ लेते हैं। इसके बाद उनके आधार लिंक खाता से पैसा की ठगी कर लेते हैं। इसके अलावा पे फोन, पेटीएम के माध्यम से मनी रिक्वेस्ट भेज कर उनसे ओटीपी प्राप्त कर रुपए की ठगी कर लिया करते हैं। साथ ही गूगल पर विभिन्न प्रकार की वायलेट व बैंक के फर्जी कस्टमर केयर नंबर का विज्ञापन देकर लोगों को सहायता के नाम से ठगी करते हैं। टीम वियुवर व क्युक स्पोर्ट रिमोट एक्सेस ऐप इंस्टॉल करवा कर गूगल पर मोबाइल नंबर का पहला चार अंक सर्च कर अपने मन से बाद में छह अंक जोड़कर साइबर ठगी का काम करते हैं। इसके अलावा प्रधानमंत्री जनधन योजना के नाम से पैसा भेजने के नाम खाता नंबर व ओटीपी लेकर भोले भाले लोगों को ठगने का काम करते हैं।

No comments