खनन विभाग द्वारा लगातार छापेमारी से अवैध खनन माफियाओं की नींद उड़ी लगभग सभी खदानें बंद

ब्यूरो रिपोर्ट।दुमका  शिकारीपाड़ाब्यूरोदुमका थाना क्षेत्र मैं अवैध खनन रुकने का नाम नही ले रहा था।इस मामले को जामा विधायक सीता सोरेन ने गंभीरता से लिया था।और शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र में चल रहे अवैध खनन पर रोक लगाने की गुहार लगायी थी।जिसे गंभीरता से लेते हुए।खनन पदाधिकारी दिलीप तांती ने शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र में चल रहे अवैध खदानों पर लगातार छापेमारी कर बंद कराया।इस कड़ी कार्रवाई से पत्थर माफियाओं की नींद उड़ी हुई है।और कारवाई के डर से सभीअवैध खदान संचालक अपनी अपनी खदान बंद कर दिए हैं। सबसे बड़ी समस्या यह है।कि शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र मैं लगभग 50 हजार मजदूर इन खदानों में काम करते है।और इन सभी मजदूरों की रोजी रोटी इन्ही खदानों से चलता है।पूरे छेत्र में मजदूरों के जीवन यापन के लिए इसके सिवा कोई दूसरा रास्ता नहीं है। सरकारी योजनाओं का काम सिर्फ गिने चुने लोगों को ही मिलता है।जिससे इन इलाकों में रहने वाले मजदूरों को हमेशा दो वक्त रोटी की समस्या बनी हुई रहती है।

No comments