ग्रामीणों ने शौचालय निर्माण में अनियमियता एवं धांधली का लगाया आरोप की विभाग से जांच कराने की मांग


 ब्यूरो रिपोर्ट।उधवा/साहिबगंज: भारत सरकार की पहल पर ग्रामीण क्षेत्र में स्वच्छ भारत मिशन के तहत गरीबों को शौचालय बनाने हेतु अनुदान के रूप में 12000 रुपया दिया जाता है ताकि लोग व्यक्तिगत स्वच्छ्ता संबंधी आदत को अपना कर रोग मुक्त हो सके। लेकिन स्वच्छ भारत मिशन में बिचौलिया हावी है। शौचालय निर्माण में अनियमितता एवं धांधली की जा रही है। जानकारी के अनुसार प्रखंड क्षेत्र के पंचायत उत्तरी बेगमगंज में इन दिनों जिला प्रशासन के निर्देश पर शौचालय बनवाए जा रहे हैं। शौचालय बनवाने का जिम्मा पंचायत के जल सहिया को सौंपा गया है। शौचालय निर्माण में गुणवत्ता की कमी देखी जा रही है।मामला उत्तरी बेगमगंज गोबरगाड़ी का है। ग्रामीण अजय मंडल, ध्रुव मंडल, गौरी बेवा, बिभा बेवा, तारनी बेवा सखीचन मंडल सहित दर्जनों लोगों का आरोप है कि शौचालय निर्माण में घटिया निर्माण सामग्री का उपयोग किया जा रहा है। पेभर इंट तीन नंबर  तथा सरिया 6 एमएम का लगाया जा रहा है। गथनी में बालू और सीमेंट की निर्धारित अनुपात के मात्रा से बहुत कम नाम मात्र का दिया जा रहा है। बिना गिट्टी के साईफन लगाया गया है। जिससे शौचालय बनने की कुछ ही दिनों में टुटकर गिर जाएंगे । शौचालय में साईफन,पाईप आदि सबसे कम दाम का लगाई गई है साथ ही गिट्टी के जगह पर इंट लगाकर परस्तर किया जा रहा है। जो कुछ ही दिनों के बाद खराब हो जाएंगे और इस्तेमाल करने का लायक नहीं रहेंगे। यही नहीं पंचायत उत्तरी बेगमगंज के जलसहिया सीमा देवी है, लेकिन शौचालयों का निर्माण कार्य उनके पति सुलेश मंडल करता है। प्रत्येक शौचालय निर्माण में महज छह सात हजार रुपए में बनाकर तैयार कर देता है। शौचालय बनाने के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति की जा रही है। जो साल भर के अंदर ही टुटकर धीरे-धीरे धंसना शुरू हो जाते हैं। ग्रामीणों ने जल एवं स्वच्छता विभाग से इसकी जांच कर गुणवत्तापूर्ण शौचालय के निर्माण कराने के साथ जलसहिया के विरुद्ध उचित कार्रवाई की मांग की है। इस संबंध में प्रखंड सोशल मोबिलाइजर पिनाकी घोष ने बताया की मामले की जांच कर आगे की कार्रवाई की जाएगी। वहीं जलसहिया सीमा देवी के पति सुलेश मंडल का कहना है कि शौचालय का निर्माण गुणवत्तापूर्ण किया जा रहा है। प्रखंड विकास पदाधिकारी उधवा राजेश एक्का से संपर्क करने पर संपर्क नहीं हो पाया।



No comments