झुग्गी-झोपड़ी में रहने को मजबूर, असली हकदार अभी-भी वंचित प्रधानमंत्री आवास से।



उधवा संवाददाता:-- सरकार बड़े ही गर्व से यह दावा ठोक रही है कि राज्य में गरीबों के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत सभी गरीबों के लिए पक्का मकान मुहैया कराया जा रहा है। सरकार चाहे जो भी दावा ठोक रही हो, लेकिन प्रधानमंत्री आवास योजना में लूट मची है। मुखिया से लेकर सरकारी मुलाजिम तक चढ़ावे के बगैर लाभुकों को आवास योजना का लाभ नहीं देते हैं। सरकार की उम्मीद 2022 तक प्रत्येक गरीब व जरूरतमंद व्यक्ति को रहने के लिए पक्का छत की घर उपलब्ध करा दिया जाएगा। वहीं, गरीब परिवार भी सरकार की उम्मीद के अनुसार वो भी राह ताकते हुए बैठे हैं कि उनके सर के ऊपर अब पक्की छत होगी। लेकिन हकीकत तो यह हैं कि आज भी गरीब व पात्र व्यक्ति तो योजना का लाभ लेने के लिए सरकारी दफ्तरों का चक्कर काटना पड़ता है। इनको घर उपलब्ध कराने के लिए दौड़ रही फाइलें उनकी सरकार की परिक्रिया की मकड़जाल में कही खो गई हैं, तभी तो इन जैसे जरूरतमंद व्यक्ति प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ से कोषों दूर है। वहीं, प्रभावशाली लोग सुविधा शुल्क देकर आवास योजना का लाभ ले लेते हैं। मगर गरीब व पात्र व्यक्ति तो अभी-भी उक्त योजना में नाम जुड़वाने व लाभ पाने के लिए धक्के ही खा रहे हैं।ऐसे ही कई मामला देखने को मिला है। प्रखंड क्षेत्र के पश्चिमी प्राणपुर के गाँव बोरक टोला ,सौकत टोला , याद अली टोला आदि। बोरक टोला निवासी बानू मोमिन , सौकत टोला निवासी लालबानू वेवा पति स्वर्गीय कोएश शेख, खोतेजा वेवा पति मूंजुर शेख , तोस्लिमा वेवा पति मोख्तार हुसैन, मूंसुर शेख पिता खोलिल शेख, असलिमा बीबी पति मोती शेख, रेबिना वेवा आदि जो परिवार हैं वे अत्यंत गरीब व असहाय हैं जिसको अबतक प्रधानमंत्री आवास का लाभ नहीं मिला। जो आये दिन एक-एक दिन नरकीय जिंदगी की तरह गुजरने को मजबूर हैं। यह परिवार तिरपाल तले , झुग्गी झोपड़ियों में जीवन बिताने के लिए दशकों से मजबूर हैं। सभी का कहना है कि हम कई जनप्रतिनिधियों से मिल चुके हैं , कई बार हमारी झोपड़ी में आकर कुछ लोग वर्षो से सिर्फ नाम लिखते व  फ़ोटो ही खिंचते आये हैं। और फ़ोटो खिचके लेके चले जाते हैं। उसके बाद कोई आता पता नहीं मिल रहा है। इतने कुछ कर ले जाने के बावजूद भी हमें अबतक ये पता नहीं चल सका कि  इसके पीछे क्या कारण है जो हमे प्रधानमंत्री आवास योजना की लाभ से वंचित रखा गया है।


No comments