दिशा की बैठक में दुमका सांसद सुनील सोरेन ने की समीक्षा

 

ब्यूरो रिपोर्ट।जामताड़ा झारखंड के दो सीटों में उपचुनाव की घोषणा होते ही राज्य में राजनीतिक तापमान परवान पर है। महागठबंधन और भाजपा अपने-अपने उम्मीदवारों को जीत दिलाने का दावा करने लगे हैं। चुनाव आयोग ने घोषणा किया है कि बिहार विधानसभा चुनाव के साथ दुमका एवं बेरमो में भी चुनाव कराए जाएंगे। दुमका विधानसभा उपचुनाव को लेकर भाजपा की क्या रणनीति है इसको लेकर दुमका के सांसद सुनील सोरेन ने कहा कि कोरोना काल के कारण आज काफी दिनों बाद *“जामताड़ा दिशा”* की बैठक हुई जिसमें वर्तमान के विभिन्न विषयों पर चर्चा और विगत बैठकों की भी समीक्षा की गयी। सांसद द्वारा यह कहा गया कि प्रोटोकॉल के तहत कोई भी शिलान्यास मे स्थानीय सांसद और विधायक दोनों जन प्रतिनिधियों का नाम होना आवश्यक है, परंतु सुत्र के माध्यम से पता चला कि किसी न्यास में जो शिलालेख थी उस पर स्थानीय सांसद का नाम नहीं थी। जिसपर उनके द्वारा आज के बैठक में यह नियमन दे दिया गया कि प्रोटोकॉल के तहत शिलालेखों को सम्पादित किये जाएं। अन्यथा जिम्मेदार पदाधिकारी पर कारवाई किया जाएगा।

No comments