केंद्र अधीक्षक बने डॉ रणजीत कुमार सिंह



साहिबगंज संवाददाता:-- सिदो कान्हू मुर्मू विश्वविद्यालय दुमका के कुलपति के द्वारा साहिबगंज महाविद्यालय  में होने वाले विभिन्न परीक्षाओं के शांतिपूर्ण संपन्न करने के लिए डॉ रणजीत कुमार सिंह को केंद्र अधीक्षक नियुक्त किया गया। साहिबगंज महाविद्यालय जिसमें स्नातकोत्तर  ,स्नातक  एवं बी एड फाइनल की परीक्षा की जिम्मेवारी दी गई है ।वही डॉ रणजीत कुमार सिंह ने बताया कि साहिबगंज महाविद्यालय में स्वच्छ, कदाचार मुक्त ,शांतिपूर्ण परीक्षा के लिए पूरे झारखंड और बिहार में जाना जाता है । उस व्यवस्था को अक्षुण रखने के लिए शिक्षक कर्मियों एवं छात्रों का सहयोग किया जाएगा। जिला प्रशासन के निर्देश व सहयोग सहायता से परीक्षा को स्वच्छ शांतिपूर्ण एवं कदाचार मुक्त परीक्षा के लिए कटिबद्ध है। डॉ रणजीत कुमार  सिंह ने कुलपति प्रोफेसर सोना झरिया  मिंज  कुलसचिव डॉ ध्रुव नारायण सिंह व परीक्षा नियंत्रक डॉ अनिल कुमार वर्मा  के प्रति आभार प्रकट करते हुए इस बड़े जिम्मेदारी देने के लिए उन्हें धन्यवाद दिया है।  परीक्षा के गरिमा और महाविद्यालय के प्रतिष्ठा का ध्यान में  रख कर अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाए शिक्षक व कंर्मी ।उन्होंने  कहा कि नगर पालिका के द्वारा सफाई एवं सेंट्रलाइजर के द्वारा समय-समय पर किया जा रहा है। सभी परीक्षा स्थल परिसर व  रूम को सैनिटाइजर साफ सफाई का विशेष ध्यान रखा जा रहा है । सरकार विश्वविद्यालय एवं यूजीसी के गाइडलाइन का अक्षरश पालन किया जा रहा है । छात्रों को निदेश दिया गया है  कि वे महाविद्यालय परिसर में आने से पहले परीक्षा एडमिट कार्ड एवं मास्क पहन कर ही परिसर में प्रवेश करें। मास्क को  सख्ती से पालन किया जाएगा साथ ही किसी तरह का कोई भी गजट पेपर केवल एडमिट कार्ड छोड़ कर  लाना वर्जित है । पाए जाने पर उसे अनुशासनात्मक कार्रवाई व परीक्षा अधिनियम के अनुसार कानूनी कार्यवाही की जाएगी । महाविद्यालय परिसर में भीड़ भाड़ ना करने का भी आग्रह किया गया है। परिसर में  144 लागू है 100 मीटर के दायरे में मजिस्ट्रेट एवं सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं। परीक्षा की सारी तैयारी कर ली गई है । वही प्राचार्य विनोद कुमार के नेतृत्व में सारी तैयारियों का जायजा लिया गया. इस परीक्षा के लिए परीक्षा नियंत्रक के रूप में डॉ अनूप कुमार साह कार्य को देख रहे हैं। परीक्षा प्रवेश पत्र लेकर ही छात्र महाविद्यालय प्रवेश करें अन्यथा उसे प्रवेश से वंचित कर दिया जाएगा । साथ ही शिक्षकों से अनुरोध किया गया है कि परीक्षा के प्रारंभ हो से  आधे घंटे पहले अपने कार्यस्थल पर पहुंच जाएं । सरकार और जिला प्रशासन के निर्देश का पालन करते हुए शारारिक दूरी मास्क सेनिटजर  व अन्य नियम पालन करते हुए  सीट प्लान भी उस तरह से तैयार किया जा रहा है एक बेंच पर एक परीक्षार्थी बैठ पाएंगे।

No comments