कृषि बिल के विरोध में आंदोलन की रणनीति को लेकर कांग्रेस की बैठक



सारठ : प्रखंड मुख्यालय से सटे तेतरिया डंगाल स्थित शाका सेन्टर में काँग्रेस के प्रखंड अध्यक्ष नटराज प्रदीप की अध्यक्षता में एक बैठक आयोजित की गई । बैठक में केन्द्र सरकार द्वारा किसानों के विरूद्ध पास किये गए कृषि बिल को वापस लेने को लेकर अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष सोनिया गांधी के निर्देशानुसार झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्णयानुसार घोषित कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए रणनीति बनाई गई । बैठक में मुख्य रूप से मौजुद प्रखंड पर्यवेक्षक सह सेवादल के प्रदेश उपाध्यक्ष अजय कुमार, जिला उपाध्यक्ष प्रो0 उदय प्रकाश एवं मीडिया प्रभारी दिनेश कुमार मंडल द्वारा किसान आंदोलन को सफल बनाने के लिए किसानों से भी समर्थन की मांग की गई । पर्यवेक्षक श्री कुमार ने कहा कि भारत कृषि प्रधान देश है, जहा चंद पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए हरित क्रांति को विफल करने के उद्देश्य से सरकार ये तीन काला कानुन लागु कर रही हैं। वहीं प्रोफेसर उदय प्रकाश ने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री गरीब, मजदूर, किसान, बेरोजगार और छोटे छोटे व्यवसाहियों के अहित में कार्य कर रही हैं,चाहे नोटबंदी, जीएसटी या असमय लॉकडाउन का काम हो या ये तीन काला कानुन हो। वहीं मीडिया प्रभारी श्री मंडल ने कहा कि किसानों के गला धोटने वाली इन तीन बिलो को वापस लेने के लिए हम सभी किसान आंदोलन को समर्थन करते हुए सड़क से सदन तक विरोध दर्ज करेंगे वही निर्धारित कार्यक्रम को लेकर 2 अक्टूबर को गांधी जी एवं लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर देवधर के धरना में सारठ के किसान तथा पार्टी कार्यकर्ता भारी संख्या में भाग लेंगे और 10 अक्टूबर को रांची के किसान सम्मेलन में भी सारठ से सैकड़ों किसान मजदूर भाग लेंगे। साथ ही पंचायत से लेकर टोले व कस्बे तक नुक्कड़ नाटक के माध्यम से 31अक्टूबर तक हस्ताक्षर अभियान भी चलाएगी । मौके पर पार्टी के मोइनुद्दीन शेख,भवतारिणी शर्मा, नजबुल मिर्ज़ा, अकील शेख, अलीमुद्दीन शेख समेत अन्यों ने भाग लिया ।

No comments