ए एस महाविद्यालय देवघर झारखंड के व्याख्यान कक्ष से अंतरराष्ट्रीय वेबनार का आयोजन



देवघर ए एस महाविद्यालय देवघर झारखंड के व्याख्यान कक्ष से अंतरराष्ट्रीय वेबनार का आयोजन किया गया कार्यक्रम की शुरुआत सिधु कान्हू मुर्मू विश्वविद्यालय दुमका के कुलपति से की गई इसके बाद महाविद्यालय के प्राचार्य डॉक्टर अनिल कुमार झा ने स्वागत भाषण सेमिनार की शुरुआत की उद्घाटन माननीय कुलपति महोदय आप पर सर डॉक्टर सोना झरिया मिंज ने अपने उद्घाटन भाषण से किया और हर्ष व्यक्त करते हुए कहा कि यह ए एस महाविद्यालय द्वारा इस तरह के कई कार्यक्रम कराने पर विश्वविद्यालय को गौरव है मैं आशा करती हूं कि इस अंतरराष्ट्रीय वेबनार को का नाम पूरे विश्व तथा प्रतिभागियों को मिले और करुणा वायरस एक प्रकार का संक्रमण है जो पूरे विश्व की अर्थव्यवस्था को पीछे कर दिया है अंतरराष्ट्री वेबिनार के विशिष्ट अतिथि प्रोफेसर डॉक्टर ओम प्रकाश गर्ग माननीय कुलपति शोभित विश्वविद्यालय मेरठ ने अपने पेपर प्रजेंट एक्शन में करुणा से नाम एवं होने पर पूरी विस्तृत जानकारी दी उन्होंने कहा कि डाउन से पर्यावरण को बहुत हुआ है इसके कहीं नाम है तो कहीं हानि भी है इन दोनों बातों पर प्रकाश से सम प्रदर्शन से समझाया सी दुकान विश्वविद्यालय दुमका के माननीय प्रति कुलपति प्रोफ़ेसर डॉ हनुमान प्रसाद शर्मा ने अपने उद्बोधन में करुणा से संबंधित सारी बातों में सकारात्मक रूप से बताया उन्होंने बताया कि इस काम में प्रकृतिक में रहने वाले जीव जंतु को देखने का मौका मिला चीन से डॉक्टर अभिषेक कुमार अवस्थी ने कहा कि ई वेस्ट की साइकलिंग ना होने से जो घर से निकलती है वह पर्यावरण को प्रभावित करती है परंतु लॉकडाउन के समय वेस्ट का अंबार ना हो सका है और पर्यावरण शुद्ध होती गई है इंडिया साइंस कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष तिवारी पर्यावरणविद ने कहा कि लोक डाउन के दौरान हवा जन्म एवं मृत्यु तीनों प्राकृतिक तत्व में बढ़ावा आया है परिणाम स्वरूप नदियों और समुद्र का जल काफी हद तक साफ दिखाई पड़ा वातावरण को शुद्ध होने से एवं हरित हो गई है जीव विज्ञान जीवाजी विश्वविद्यालय ग्वालियर के प्रजापत डॉक्टर हरेंद्र कुमार शर्मा ने पर्यावरण पर प्रकाश डालते हुए कहा कि नैनो टेक्नोलॉजी का वातावरण पर प्रभाव पड़ा है शांतिनिकेतन से विश्व भारती विश्वविद्यालय के वनस्पति विज्ञान के पूर्व विभागाध्यक्ष पर्यावरण पर शुद्धता की बात बताई अंतरराष्ट्रीय आयोजन के सचिव एवं वनस्पति विभाग के विभागाध्यक्ष एवं पर्यावरणविद् डॉ अशोक कुमार ने कहा कि विश्वव्यापी महामारी है इससे जहां लाखों लोग प्रभावित हुए हैं वहीं इसकी दूसरी तरफ पर्यावरण को इससे काफी लाभ मिला है ।

निर्देशक पर्यावरण से संबंधित अपने विचारों को रखा उन्होंने के दौरान उनके लोगों पर सुरक्षित रहे और काडा का प्रयोग करें अपने विचारों को व्यक्त किया  मंच संचालन डॉक्टर एनके द्विवेदी ने किया।

No comments