जर्जर हाईटेंशन बिजली तार दुर्घटना को दे रहा है आमंत्रण



उधवा संवाददाता:-- आये दिन बिजली की चपेट में आने से कोई न कोई हादसा जरूर देखने को मिल रहा है। जिससे कोई लोग दुनिया को अलविदा कह जाते हैं तो किसी की हाथ पैर जलकर दिव्यांग बन के रह जाते हैं। प्रखण्ड क्षेत्र के दियारा इलाकों में सबसे ज्यादा जर्जर विद्युत पोल सह जर्जर तार हादसे को निमंत्रण दे रहा है। कई ऐसे गाँव हैं जहाँ तार व पोल जर्जर होने के कारण आये दिन दुर्घटनाएं होती रहती हैं। कभी हाईटेंशन तार गिर जाता हैं तो कभी पोल झुक जाता हैं। लेकिन विभाग इस दिशा में कोई पहल नहीं कर रहा हैं। ऐसे ही स्थिति बनी हुई हैं प्रखण्ड क्षेत्र की पश्चिमी प्राणपुर के गोहाटी बाजार से अशराफ टोला तक गाँव के बीचों-बीच से होकर 11 हजार बोल्टेज की हाईटेंशन तार की गुजारा हैं। बिजली के हाईटेंशन तार घरों की छत व दीवार के इतने करीब से गुजर रहे हैं की कभी-भी बड़ा हादसा हो सकता हैं। साथ जहाँ हाईटेंशन तार सड़क क्रॉस करती हैं तो सुरक्षा की दृष्टि से कोई  व्यवस्था नहीं कि गई। ग्रामीण खोलिल शेख , खालिद हसन मिलु, अशराफ अली , रेजाउल शेख, समसुल शेख आदि का कहना है कि खुले तार के नीचे से हमे रोड क्रॉस करते समय हमेशा डर लगता हैं और तार भी बहुत नीचा हैं। उन्होंने ये भी कहाँ की तार इतने नीचे होने से बीते रविवार को राजमिस्त्री के पीछे कार्यरत दो युवक की सरिया हाईटेंशन तार से शट गया।जिससे वे दोनों गंभीर रूप से घायल हो। लेकिन आने वाले कल में कभी-भी अनहोनी हो सकती हैं।

इस संबंध बिजली विभाग कनीय अभियंता बिरेंद्र कुमार उरांव का कहना है कि जर्जर पोल तार एवं जाली लगाने से जुड़े समस्या को लेकर ग्रामीणों ने बिजली विभाग को आवेदन दिया हैं. जिस पर विचार कर जर्जर पोल व तार को मरम्मती कराई जाएगी।

No comments